सरोजनीनगर में स्थापित होने वाले अशोक लेलैंड कॉमर्शियल ईवी प्लांट का डॉ. राजेश्वर सिंह नें किया भूमि पूजन

Lucknow
  • 1500 करोड़ की लागत से औद्योगिक क्षेत्र सरोजनीनगर में स्थापित होने वाले अशोक लेलैंड कॉमर्शियल ईवी प्लांट का डॉ. राजेश्वर सिंह नें किया भूमि पूजन
  • सीएम योगी ने सरोजनीनगर विधानसभा में अशोक लेलैंड के हरित परिवहन-केंद्रित वाणिज्यिक वाहन संयंत्र की रखी आधारशिला, विधायक डॉ राजेश्वर सिंह ने किया भूमि पूजन
  • सरोजनीनगर विधानसभा में यूपी के पहले व्यावसायिक वाहन संयंत्र की सीएम योगी ने रखी आधारशिला, डॉ. राजेश्वर सिंह नें जताया आभार, कहा- करीब 10,000 युवाओं के लिए रोजगार के अवसर होंगे सृजित
  • 1500 करोड़ की लागत से सरोजनीनगर में 70 एकड़ भूमि पर लगेगी विश्व की चौथी सबसे बड़ी कॉमर्शियल व्हेकिल मैनुफैक्चरिंग कंपनी अशोक लेलैंड की फैक्ट्री, विधायक डॉ. राजेश्वर सिंह ने किया भूमि पूजन
  • सरोजनीनगर में यूपी के पहले व्यावसायिक वाहन संयंत्र की रखी गई आधारशिला, विधायक डॉ. राजेश्वर सिंह ने क्षेत्रवासियों को दी बधाई

लखनऊ।  मंगलवार का दिन सरोजनीनगर के लिए अत्यंत हर्ष, गौरव और सम्मान का रहा। विश्व की चौथी सबसे बड़ी कॉमर्शियल व्हेकिल मैनुफैक्चरिंग कंपनी अशोक लेलैंड ने लखनऊ की सरोजनीनगर विधानसभा में ग्रीन मोबिलिटी पर केंद्रित एक नया इंटीग्रेटेड कमर्शियल व्हीकल प्लांट स्थापित किया जिसकी आधारशिला पट्टिका का अनावरण तथा आधारशिला उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने रखी तथा औद्योगिक क्षेत्र सरोजनीनगर में स्थापित होने वाले अशोक लेलैंड कॉमर्शियल ईवी प्लांट का डॉ. राजेश्वर सिंह नें भूमि पूजन किया इस दौरान वित्त एवं संसदीय कार्य मंत्री सुरेश खन्ना, खादी एवं ग्राम्योद्योग मंत्री राकेश सचान, परिवहन मंत्री दयाशंकर सिंह व हिंदुजा समूह के वरिष्ठ पदाधिकारि साथ रहे।  

इस मौके पर डॉ. राजेश्वर सिंह ने कहा कि इससे करीब 10,000 युवाओं के लिए रोजगार के अवसर सृजित होंगे। बता दें कि 1500 करोड़ की लागत से सरोजनीनगर विधानसभा के स्कूटर इंडिया में 70 एकड़ भूमि पर यह यूपी का पहला व्यावसायिक वाहन संयंत्र तथा विश्व स्तर पर अशोक लेलैंड की सबसे मॉर्डन और पर्यावरण के अनुकूल फैक्ट्री होगी।

सरोजनीनगर विधानसभा में अशोक लेलैंड के हरित परिवहन-केंद्रित वाणिज्यिक वाहन संयंत्र के भूमिपूजन कार्यक्रम में बतौर मुख्य अतिथि शामिल हुए सीएम योगी का आभार जताते हुए डॉ राजेश्वर सिंह ने कहा कि योगी आदित्यनाथ के दूरदर्शी नेतृत्व में पिछले 7 साल में यूपी में विकास, व्यापार और विश्वास का परिवेश बना, अपराध पर नियंत्रण और उद्यम का विस्तार हुआ। डॉ राजेश्वर सिंह ने आगे कहा कि भारत दुनिया का तीसरा सबसे बड़ा पेट्रोलियम इंपोर्टर देश है। हम प्रतिदिन 4.5 से 5 मिलियन बैरल कच्चे तेल का आयात करते हैं, इसके लिए प्रतिवर्ष करीब 16 लाख करोड़ रूपये खर्च होते हैं, जबकि पर्यावरण में प्रदूषण बढ़ाने में इन वाहनों के धुएं का योगदान 25 फीसदी है, इन चुनौतियों से निपटने की दिशा में योगी आदित्यनाथ डीकार्बोनाइजिंग परिवहन को बढ़ावा दे रहे हैं।

डॉ. राजेश्वर सिंह ने सीएम योगी कि सराहना करते हुए कहा कि आज देश भर में करीब 30 लाख ईवी हैं, जिनमें 25% यानी करीब 7.5 लाख ईवी केवल उत्तर प्रदेश में हैं, यह उपलब्धि योगी आदित्यनाथ की ईवी पालिसी- 2022 का सुखद परिणाम है। नवम्बर 2023 तक यूपी में ईवी खरीद पर 4110 लाभार्थियों को 13.11 करोड़ की सब्सिडी प्रदान की जा चुकी है, सरोजनीनगर में अशोक लेलैंड की इलेक्ट्रिक वाहन फैक्ट्री की स्थापना भी इसी इच्छाशक्ति का परिणाम है। इस उपलब्धि के लिए डॉ राजेश्वर सिंह ने सरोजनीनगर क्षेत्र के लोगों को बधाई भी दी।

इस मौके पर उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी ने कहा कि अशोक लेलैंड अब जल्द से जल्द प्रोडक्शन शुरू करे, सिर्फ उत्तर प्रदेश ही नहीं बल्कि पूरे उत्तर भारत का बाजार इस बात का इंतजार कर रहा है। हमारे पास 1 लाख स्कूली बस हैं जो आने वाले समय में इलेक्ट्रिक बस से रिप्लेस किए जाएंगे। आने वाले समय में गांवों को शहर से जोड़ने के लिए इलेक्ट्रिक बस सेवा सस्ती विकल्प बनेगी। इससे युवाओ में रोजगार बढ़ेगा। यूपी के गांव अपने आप में बहुत बड़ा बाजार है, जरूरत है उसके हिसाब से इनिसियेटिव लेने की।

कार्यक्रम में बतौर मुख्य अतिथि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, सरोजनीनगर विधायक डॉ. राजेश्वर सिंह, वित्त एवं संसदीय कार्य मंत्री सुरेश खन्ना, औद्योगिक मंत्री नंद गोपाल नंदी, खादी एवं ग्राम्योद्योग मंत्री राकेश सचान, परिवहन मंत्री दयाशंकर सिंह, अशोक लेलैंड के एक्जीक्यूटिव चेयरमैन धीरज हिंदुजा, अशोक लेलैंड के एमडी और सीईओ शेनु अग्रवाल, हिंदुजा समूह के पदाधिकारियों समेत बड़ी संख्या में क्षेत्रवासी मौजूद रहे।