कोरोना से जंग-जन आंदोलन में जन सहभागिता का महत्व

Health /Sanitation

(www.arya-tv.com) कोरोना के रोकथाम के लिए अब समूचे देश में जनआंदोलन के माध्यम से जागरूकता, सजगता एवं जानकारी दी जा रही है। प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी ने इस अभियान यूनाइट 2 फाइट कोरोना हैशटैग के साथ ट्वीट करके शुरुआत की।

इस लड़ाई में जनसहभागिता महत्वपूर्ण बिंदु है इसकी शुरुआत हमारे घर से ही होती है मास्क का प्रयोग दो गज की दूरी और हाथ की स्वच्छता इन उपायों पर हमें ध्यान देने की आवश्यकता है।

कोविड-19 के जंग में हमें कुछ सावधानियां बरतनी होगी अक्सर छूई जाने वाली सतहों को छूने के बाद हमेशा अपने हाथों को धोएं । अपने नाक, मुहं और आँखों में छूने से बचे । इस प्रकार अपना व्यवहार रखें ताकि हम कोरोना का मुकाबला कर सकने में सक्षम हो सकते है । अत्यावश्यक कार्य है तभी मास्क पहनकर बाहर निकले, भीड़ में न जाएं तथा दूसरों से 2 गज की दूरी बना कर रखें।

कोविड-19 के संक्रमण से बुजर्गों के बचाव हेतु उन्हें सलाह दी गई है, वे घर पर रहे और आंगतुकों से मिलने से बचे । साबुन और पानी के साथ नियमित अंतराल पर अपने हाथों और चेहरे को धोएं, छींकते और खाँसते समय अपनी कोहनी या रुमाल का इस्तेमाल करें । बुखार और श्वसन संबंधी समस्या है तो नजदीकी स्वास्थ्य केंद्र से संपर्क करें, ताकि स्वास्थ्य सलाह तत्काल मिल सकें । उचित पोषण के साथ व्यायाम और ध्यान करें ।

मास्क का उपयोग करते समय ध्यान रखना आवश्यक हो जाता है कि उसकी समुचित साफ-सफाई होनी चाहिए। कपड़े के मास्क को साबुन, गर्म पानी और कीटाणुनाशक से धोने के पश्चात धूप में सुखाना जरूरी है।

सर्जिकल मास्क 4 घंटे तक ही प्रभावी रहता है कोरोनावायरस ने के लिए जानकारी एवं सावधानी महत्वपूर्ण है बंद कमरे में समूह में रहने से बचना जरूरी है संक्रमित व्यक्ति के बंद कमरे में रहने से संक्रमण की संभावनाएं बढ़ जाती है।

इस जन आंदोलन में परिवार एक महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकता है खासकर अभिभावक जो इस तरह के कोविड अनुरुप व्यवहार का पालन करने में बड़ी भूमिका निभा सकते हैं।

परिवार के सदस्यों को बहुत जरूरी हो तभी घर से बाहर जाने की अनुमति देनी चाहिए अगर बाहर जाना है तो मास्क का उपयोग करें, घर आने के बाद स्नान करें इस प्रकार का अनुशासन घर परिवार में होना चाहिए।

इस संदर्भ में जनसहभागिता का महत्व अधिक रेखांकित होता है। आइए हम सब मिलकर दृढ़ संकल्प के साथ कोविड अनुरूप व्यवहार का पालन करते हुए सुरक्षित वातावरण में कोरोना का सामना करने में जरुर सफल होंगे यह निश्चित है। हमारी एकता, जनता सहभागिता, सावधानी, जागरूकता और अनुशासन ही हमें विजयी कर सकता है।
(लेखक अपर महानिदेशक, पत्र सूचना कार्यालय रायपुर हैं)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *