लखनऊ के SGPGI में आज दो घंटे काम नहीं करेंगी नर्से; इंस्टीट्यूट एडमिनिस्ट्रेशन की चेतावनी

Lucknow

(www.arya-tv.com)सावधान… अगर आप आज किसी मरीज को SGPGI दिखाने का प्लान बना रहे हैं तो आपके लिए जरूरी खबर है। आज प्रदेश के बड़े अस्पतालों में शुमार SGPGI की नर्सें दो घंटे यानी सुबह 10 बजे से 12 बजे तक कोई काम नहीं करेंगी। PGI नर्सेज संघ की अध्यक्ष सीमा शुक्ला ने कार्य बहिष्कार का ऐलान कर दिया है। ऐसे में आपको परेशानी भी हो सकती है। इसलिए अस्पताल पहुंचने से पहले फोन के जरिए हालात की जानकारी जरूर लें।

नर्सेज एसोसिएशन की अध्यक्ष सीमा शुक्ला ने कहा कि नर्सिंग पुनर्गठन और प्रमोशन के मामले कई साल से अटके हैं। कई बार डायरेक्टर और शासन के अधिकारियों को पत्र लिखा गया, लेकिन कोई सुनवाई नहीं हुई। ऐसे में शुक्रवार से 10 से 12 बजे तक कार्य का बहिष्कार होगा। इसके अलावा मांगों का निस्तारण न होने पर पूर्ण कार्य बहिष्कार का एलान किया जाएगा।

PGI प्रशासन ने चेतावनी दी
नर्सों के कार्य बहिष्कार को लेकर PGI प्रशासन भी सतर्क हो गया है। प्रशासन ने ने एस्मा लागू होने की बात कहते हुए धरना प्रदर्शन पर पाबंदी का दावा किया है। कहा कि अगर नर्सें काम नहीं करेंगी तो उनपर एस्मा के तहत कार्रवाई होगी। वहीं नर्सेज एसोसिएशन ने संस्थान प्रशासन और विभागों के अध्यक्षों पर दबाव बनाने का आरोप लगाया है। चिकित्सा स्वास्थ्य महासंघ के अध्यक्ष डॉ. अमित सिंह, महामंत्री अशोक कुमार ने महानगर कार्यालय में बैठक की। इस दौरान उन्होंने राज्य सरकार की स्थानांतरण नीति पर सवाल उठाए।

उन्होंने कहा कि करोना की तीसरी लहर आने वाली है,ऐसे में बेवजह कर्मचारियों का स्थानांतरण न किया जाए। इसकी स्पष्ट नीति बनाई जाए। साथ ही आवश्यकता पड़ने पर कर्मचारियों की पदोन्नति, समायोजन व स्थानांतरण जिला मंडल स्तर पर उपलब्ध रिक्त पद के आधार पर किया जाए।मांगों का निस्तारण न होने पर दो जुलाई को स्वास्थ्य भवन का घेराव करने की बात कही गई है।

भर्ती के लिए वसूली का लगाया आरोप
ऐंबुलेंस कर्मचारियों के संघ जीवनदायिनी के अध्यक्ष हनुमान प्रसाद ने नई कंपनी जिगित्सा पर गंभीर आरोप लगाए हैं।उन्होंने कहा कि प्रदेश में एएलएस ऐंबुलेंस में संचालन का ठेका जिगित्सा कंपनी को मिला है।इसमें चालक, तकनीशियन आदि पदों पर भर्ती चल रही है।

इसके लिए 20-20 हजार की वसूली हो रही है।आरोपो पर कंपनी के यूपी प्रमुख चंदन दत्ता ने आरोपों को बेबुनियाद बताया।उन्होंने कहा कि टेंडर प्रक्रिया के जरिए एम्बुलेंस का काम मिला है।कुल 250 एएलएस ऐंबुलेंस का कंपनी संचालन करेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *