नेतन्याहू बोले- ये जंग आतंक के खिलाफ, जवाबी कार्रवाई जारी रखेंगे; बाइडेन ने हालात पर चिंता जताई

International

(www.arya-tv.com)इजराइल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू ने फिलिस्तीन के साथ जारी संघर्ष के लिए हमास (इजराइल इसे आतंकी संगठन मानता है) को दोषी ठहराया। उन्होंने शनिवार को देश को संबोधित किया। उन्होंने शनिवार को कहा कि जब तक हम अंजाम तक नहीं पहुंचते, तब तक गाजा के खिलाफ हमारी जवाबी कार्रवाई जारी रहेगी। उन्होंने कहा कि ये लड़ाई आतंक खिलाफ है। हमारी पूरी कोशिश रहेगी कि इससे नागरिकों की जान खतरे में न पड़े।

इससे पहले शनिवार को अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन ने फिलिस्तीन के राष्ट्रपति महमूद अब्बास और इजराइल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू से फोन पर बात की। जनवरी में राष्ट्रपति का पद संभालने के बाद बाइडेन और अब्बास के बीच यह पहली बातचीत है।

अब तक 126 की मौत
इधर, एयरस्ट्राइक की वजह से शनिवार को फिलिस्तीन के सबसे बड़े शहर गाजा में बिजली सप्लाई भी प्रभावित हुई। वहीं, अमेरिका के ब्रुकलीन में फिलिस्तीन की आजादी की मांग के बैनर लेकर लोगों ने सड़कों पर मार्च निकाला। पिछले 7 दिनों से जारी इस जंग में अबतक 126 लोग मारे जा चुके हैं। इनमें 31 बच्चे शामिल हैं। हमले में 950 से ज्यादा लोग घायल हैं। मरने वालों में 9 इजराइली और बाकी फिलिस्तीनी हैं।

दोनों ओर से हमले जारी
न्यूज एजेंसी स्पुतनिक ने सूत्रों के मुताबिक,शनिवार को इजराइल की एयरफोर्स की तरफ से गाजा पट्टी के खान यूनिस, पूर्वी इलाके और रफाह शहर में लगातार रॉकेट से हमले किए गए। इसी एयरस्ट्राइक के बीच पावर सप्लाई काट दी गई। वहीं, हमास के कासम ब्रिगेड ने बताया कि उसने अवासीय बिल्डिंग नष्ट होने के जवाब में इजराइल के अशकलोन, अशदोद और बेर्शेबा की ओर रॉकेट दागे।

बाइडेन और अब्बास ने यरूशलम और वेस्ट बैंक में मौजूदा तनाव पर चर्चा की

  • बाइडेन ने फिलिस्तीन के राष्ट्रपति महमूद अब्बास से हमास को इजराइल में रॉकेट दागने से रोकने को कहा है। साथ ही मौजूदा हालात पर चिंता जाहिर की। व्हाइट हाउस के मुताबिक, राष्ट्रपति ने फिलिस्तीन के लोगों की गरीमा, सुरक्षा और आर्थिक अवसर का लाभ लेने के लिए सक्षम बनाने को लेकर अपना समर्थन जताया। फिलिस्तीन के लोगों को आर्थिक और मानवीय हितों को आगे रखते हुए फिर से सहायता देने के फैसले पर जोर दिया। इसमें वेस्ट बैंक और गाजा के फिलिस्तीनी लोग भी शामिल करने की बात कही गई। दोनों नेताओं ने यरूशलम और वेस्ट बैंक में मौजूदा तनाव पर भी चर्चा की। बाइडेन ने सभी धर्मों और पृष्ठभूमि के लोगों के लिए यरुशलम में शांति स्थापित करने की इच्छा जाहिर की।

बाइडेन ने इजराइल को अपने अधिकार सुरक्षित रखने का जताया समर्थऩ

  • इसके अलावा बाइडेन ने इजराइल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू से भी टेलीफोन पर बातचीत की। इस दौरान बाइडेन ने हमास और अन्य आतंकवादी संगठनों की तरफ से जारी रॉकेट हमले में इजराइल के अधिकार सुरक्षित रखने के लिए अपना समर्थऩ जताया। उन्होंने इन हमलों की निंदा की। बाइडेन ने इजराइल में पत्रकारों की सुरक्षा और वहां जारी घरेलू हिंसा पर भी चिंता जताई।

इंटरनेशनल मीडिया दफ्तरों पर भी हमला
इधर, शनिवार को इजराइल एयरफोर्स की तरफ से गाजा में एक अवासीय बिल्डिंग को निशाना बनाया गया। इजराइल की सेना का कहना है कि इस बिल्डिंग में हमास के पॉलिटिकल ब्यूरो का दफ्तर संचालित हो रहा था, जिसे तबाह कर दिया गया। इसी बिल्डिंग में इंटरनेशनल मीडिया अल जजीरा और एसोसिएट प्रेस के दफ्तर भी थे, वे भी पूरी तरह तबाह हो गए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *