गोरखपुर: रुक रुककर बारिश ने बिगाड़ी सूरत, दुकानों और घरों में भरा पानी

Gorakhpur Zone UP

गोरखपुर।(www.arya-tv.com) लगातार बारिश होने से घरों और दुकानों में घुसा पानी तीन दिन से रुक-रुककर हो रही बारिश से शहर के नालों ने जवाब देना शुरू कर दिया है। रविवार रात हुई बारिश के बाद शहर की सबसे पाश कॉलोनी बेतियाहाता में घरों व गोदामों में पानी घुस गया। इससे लाखों रुपये का नुकसान हुआ है। बेतियाहाता से पानी न निकलने के लिए पार्षद ने नाले को गलत डिजाइन से बनाने का आरोप लगाते हुए नगर निगम के अफसरों को कटघरे में खड़ा किया है।

बेतियाहाता में हनुमान मंदिर के पास की गली में रविवार रात हुई बारिश का पानी भरने लगा तो लोगों ने घर का सामान सुरक्षित करना शुरू किया। लेकिन जिनके गोदाम हैं उनको जानकारी नहीं हो सकी। सोमवार सुबह जानकारी होने के बाद गोदाम के मालिक पहुंचे तो पता चला कि लाखों का माल पानी में डूबा हुआ है। मनीष ट्रेडर्स के गोदाम में पानी भर जाने के कारण काफी नुकसान हुआ है। राजघाट इलाके में भी जलभराव से दिक्कत हो रही है। मुक्तेश्वर नाथ मंदिर में एक बार फिर बारिश का पानी घुस गया है। मेडिकल कॉलेज रोड के किनारे की कॉलोनियों में सबसे ज्‍यादा दिक्‍कत है। यहां जलभराव दूर भी नहीं हो पा रहा है कि फिर बारिश के कारण संकट खड़ा हो जा रहा है।

वाराणसी: कोरोना काल में 8 नए हॉटस्‍पॉट, अब तक 233 मरीज हुए स्वस्थ

शक्तिनगर, शताब्‍दीपुरम, खरैया पोखरा, अशोक नगर, राप्‍तीनगर फेज चार, रेल विहार आदि इलाकों में बारिश के कारण हालात लगातार भयावह होते जा रहे हैं। तारामंडल रोड किनारे के मोहल्‍लों में जलभराव दूर करने के लिए बने नाले रविवार रात में भी जवाब दे गए। इन नालों से पानी काफी धीमी गति से निकलने के कारण घंटों जलभराव रहना सामान्‍य बात हो गई है। एक किलोमीटर के दायरे में जलभराव के कारण लोग परेशान हैं। नंदा नगर इलाके में जल निगम ने सीवर लाइन डाली है। सीवर लाइन डालने के बाद सड़क न बनने के कारण पूरे इलाके की सड़कें कीचड़ में बदल गई हैं। इससे आवागमन प्रभावित हुआ है। जून में बारिश का आंकड़ा औसत से काफी आगे चला गया है।

इस महीने में अबतक औसत से 45 फीसद अधिक बारिश हो चुकी है। औसत बारिश का मानक 185.5 मिलीमीटर है जबकि एक से 21 जून तक 269.1 मिलीमीटर बारिश रिकार्ड की जा चुकी है। मौसम विशेषज्ञ के मुताबिक बारिश का यह सिलसिला रुक-रुक कर जारी रहेगा। 24 जून के बाद मध्यम से भारी बारिश के आसार बन रहे हैं। ऐसे में जून की बारिश के आंकड़े में भारी बढ़ोत्तरी की संभावना बनी हुई है। मौसम विशेषज्ञ कैलाश पांडेय ने बताया कि राजस्थान से लेकर दक्षिणी उत्तर प्रदेश होते हुए बंगाल की खाड़ी तक एक निम्न वायुदाब क्षेत्र बना हुआ है। अगले दो दिन में यह और मजबूत होगा। ऐसे में अगले दो दिन तक पूर्वी उत्तर प्रदेश के 50 फीसद हिस्से में बूंदाबादी से लेकर हल्की बारिश हो सकती है लेकिन उसके बाद मध्यम से भारी बारिश का पूर्वानुमान है। शनिवार की शाम से रविवार की शाम तक गोरखपुर में 21.9 मिलीमीटर बारिश रिकार्ड की गई। बारिश की वजह से आद्र्रता का प्रतिशत 70 से 90 प्रतिशत के बीच बना रहा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *