लखीमपुर में 3 कोरोना वॉरियर समेत 7 हुए संक्र​मण का शिकार

Lucknow UP

लखनऊ।(www.arya-tv.com) उत्तर प्रदेश में लगातार वायरस बपने पैर पसार रहा है, राजधानीवासियों को यह ध्यान में रखना चाहिए कि कोरोना के मामले बढ़ते ही जा रहे हैं। शुक्रवार को लखीमपुर में कोरोना विस्फोट हुआ। जिले में तीन पुलिसकर्मियों समेत सात मिले पॉजिटिव मिले हैं। वहीं, बाराबंकी में तीन नए संक्रमित मरीज मिले हैं। उधर, हरदोई में एक युवक की रिपोर्ट पॉजिटिव आने पर वह परिवारजनों समेत घर से भाग निकला। बता दें, राजधानी में बीते गुरुवार को सपा विधायक के परिवाजनों समेत 27 लोगों में कोरोना की पुष्टि हुई। ऐसे में शहर में मरीजों की संख्या 704 हो गई है। कोरोनावायरस ने पुलिसकर्मियों को भी चपेट में ले लिया है।

जिले में शुक्रवार सुबह 10 बजे आई रिपोर्ट में तीन पुलिसकर्मियों समेत 7 लोग पॉजिटिव पाए गए हैं। चिंताजनक यह है कि तीनों पुलिस लाइन में रहते हैं और सैंपल लिए जाने के बाद से ही क्वारंटाइन हैं। पुलिसकर्मियों के संक्रमित मिलने की रिपोर्ट आने के बाद वहां रह रहे अन्य परिवारों में अफरा-तफरी मच गई है। डीएम शैलेंद्र कुमार सिंह ने पुष्टि करते हुए बताया कि 209 रिपोर्ट मिली है, जिनमें सात पॉजिटिव मिले हैं।  जिले में पहला पॉजिटिव पुलिसकर्मी दिल्ली से वापस आया है और पुलिस लाइन के आवास में क्वारंटाइन है। दूसरा, पुलिसकर्मी मेरठ से आया है, वह भी पुलिस लाइन के आवास में क्वारंटाइन है।

तीसरा पुलिसकर्मी गाजियाबाद से वापस आया है और वह भी क्वारंटाइन किया गया है। चौथा पॉजिटिव प्रवासी कामगार है। मोहम्मदी के ग्राम सदियापुर का रहने वाला है। दिल्ली से आए प्रवासी का सैंपल लेने के बाद होम क्वारंटाइन किया गया था। पांचवा पॉजिटिव प्रवासी विकासखंड नकहा के ग्राम परसा का निवासी है। दिल्ली से लौटा प्रवासी इस समय होम क्वारंटाइन है। छठा पॉजिटिव प्रवासी महिला मैगलगंज के ग्राम कलुआमोती का निवासी है, जो हाल ही में दिल्ली से आई है और वह भी होम क्वारंटाइन है। सातवां पॉजिटिव हरियाणा से मोहम्मदी के अपने गांव बिलावल पुर पहुंचा है सैंपल के बाद होम क्वारंटाइन है।

जिले में अब तक 94 व्यक्ति पॉजिटिव मिल चुके हैं जिनमें 81 स्वस्थ होकर घर लौट चुके हैं और 13 का इलाज चल रहा है। जिले में कोरोना पॉजिटिव रिपोर्ट पता चलने पर युवक परिवार समेत घर से भाग निकला। कछौना के ग्राम तेरवा दहिगवां (गौसगंज) निवासी युवक 15 जून को दिल्ली से अपने घर आया था। 17 जून को उसका सैंपल कोरोना जांच के लिए भेजा गया था, जोकि 19 जून को आई रिपोर्ट में पॉजिटिव पाया गया। शुक्रवार को जब युवक टीम अस्पताल में भर्ती कराने के लिए लेने गई तो वह टीम को बरगलाकर परिवार समेत घर से भाग गया। कासिमपुर व कछौना पुलिस द्वारा उनकी तलाश की जा रही है।

ग्रामीणों के अनुसार, यह भी पता चला है कि वह युवक गांव में ही एक बरात में भी शामिल हुआ था। परिवार के साथ घर से भाग निकलने से पॉजिटिव मरीज द्वारा परिजनों व अन्य लोगों में भी संक्रमण फैलने की आशंका लोग डर गए हैं। सीएचसी अधीक्षक का कहना है कि युवक की तलाश की जा रही है। बता दें, गुरुवार को शहर में सपा विधायक के परिवाजनों समेत 27 लोगों में कोरोना की पुष्टि हुई। इसमें पांच महिलाएं व 11 पुरुष हैं। इसमें कृष्णानगर में छह मरीज, राजाजीपुरम में तीन मरीज, सरोजनी नायडू मार्ग के तीन मरीज, माल एवन्यू निवासी संक्रमित विधायक के दो परिवारजन, दो गोमतीनगर, एक गोमती नगर विस्तार, दो इंदिरा नगर, एक शक्ति नगर, एक तेलीबाग, वृंदावन का एक मरीज, पारा रोड का एक मरीज, कैसरबाग एक मरीज, अशर्फाबाद एक मरीज, जानकीपुरम एक मरीज व पानी गांव का एक मरीज है। ऐसे में मरीजों की संख्या 704 हो गई है।

राजधानी स्थित कैसरबाग में कई दिनों तक वायरस का प्रकोप छाया रहा। इसके बाद वहां नए केस नहीं आ रहे थे। अब दोबारा एक केस मिला है। वहीं गुरुवार को अलग-अलग 15 इलाकों में वायरस पाया गया है। ऐसे में शहर में हड़कंप रहा। स्वास्थ्य विभाग के लिए मरीजों के संपर्क तलाशने व क्षेत्र में स्क्रीनिंग करना चुनौती बनी हुई है। सीएमओ की टीम ने घर-घर जाकर लोगों को जागरूक किया। टीम द्वारा कुल 2418 घरों का भ्रमण किया गया। इस दौरान 10,144 लोगों का स्वास्थ्य ब्योरा जुटाया। कान्टेक्ट ट्रेसिंग के आधार पर 344 लोगों के सैंपल जांच के लिए केजीएमयू भेजा गया। वहीं, 18 रोगियों को डिस्चार्ज किया गया है।

बलरामपुर जिला चिकित्सालय व सिविल अस्पताल में गुरुवार को एक-एक मरीज की रिपोर्ट पॉजिटिव आने से अस्पताल में हड़कंप मच गया। बलरामपुर की इमरजेंसी में बुधवार को दिखाने आए युवक को बुखार व गले में खरास की समस्या के चलते उसे आइसोलेशन में रखा गया था। साथ ही नमूना लेकर जांच कराई गई। रिपोर्ट देर शाम पॉजिटिव आने के बाद मरीज के सीधे संपर्क में आए करीब चार स्वास्थ्यकर्मियों को क्वारंटाइन में रहने को कहा गया है। नियमानुसार पांचवें दिन इन सभी का नमूना लेकर जांच को भेजा जाएगा। मरीज जिस वार्ड में भर्ती था उसे 24 घंटे के लिए बंद करके सैनिटाइज करा दिया गया है।

सीएमएस डॉ. आरके गुप्ता ने बताया कि एक दिन पहले मरीज को संदिग्ध लक्षणों के चलते आइसोलेशन में रखा गया था। रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद उसे लोकबंधु में शिफ्ट करवा दिया गया है। वहीं सिविल अस्पताल में भी बुधवार को आइसोलेशन में भर्ती हुए एक मरीज की रिपोर्ट गुरुवार को दोपहर में पॉजिटिव आई है, जिसके बाद उसे लोकबंधु में शिफ्ट करवा दिया गया है। जिस वार्ड में मरीज भर्ती था, उसे सैनिटाइज करवाकर 24 घंटे के लिए बंद कर दिया गया है। संपर्क में आए लोगों की तलाश की जा रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *