गन कल्चर से अब तक की 450 लोगो की गई जानेे,खामियाजा भुगत रहा अमेरिका

National

(www.arya-tv.com) अमेरिका में गन कल्‍चर कोई नया नहीं है। इसका खामियाजा भी अमेरिका को भुगतना पड़ता है। अमेरिका में बढ़ते गन कल्‍चर से होने वाले नुकसान के आंकड़े भी काफी भयानक है। आंकड़ों के मुताबिक अमेरिका में मौजूदा वर्ष में अब तक करीब 450 लोगों की जान इसी गन कल्‍चर की वजह से गई है। इसके पीछे सबसे बड़ी वजह हथियार हासिल करने के लिए बनाए गए नियम है। कई बार इन्‍हें बदलने के लिए आवाज तो उठाई गई लेकिन हुआ कभी कुछ नहीं। इसमें भी एक सच्‍चाई है कि अमेरिका में हथियार अपनी सुरक्षा के नाम पर खरीदे जाते हैं लेकिन इनका ही इस्‍तेमाल दूसरों को खुलेआम मारने के लिए होता रहा है।

इसका ताजा उदाहरण अमेरिका में टेक्‍सास के ब्रायन में हुई गोलीबारी की घटना है, जिसमें एक व्‍यक्ति की मौत हो गई है,जबकि 7 पुलिसकर्मी घायल हो गए हैं। ये घटना एक इंडस्ट्रियल पार्क में हुई है। वाशिंगटन पोस्‍ट के मुताबिक हमलावर ने ब्रायन के कस्‍टम केबिनेट प्‍लांट में दोपहर करीब ढाई बजे अंधाधुंध फायरिंग शुरू की थी। हमलावर यहीं पर काम करने वाला शख्‍स बताया गया है। इससे पहले 2 अप्रैल को केलीफॉर्निया के ओरेंज में भी इसी तरह की घटना सामने आई थी जहां पर एक पुलिस के ऑफिस में हुई अंधाधुंध फायरिंग में चार लोगों की मौत हो गई थी। बाद में पुलिस ने हमलावर को गिरफ्तार कर लिया था।

आपको बता दें कि अमेरिका में हथियारों की खरीद-फरोख्‍त पर न तो सख्‍ती है और न ही किसी तरह की कोई रोक नहीं है। यही वजह है कि वहां पर कोई भी आसानी से हथियारों को हासिल कर सकता है। स्माल आर्म्स सर्वे 2011 के आंकड़े बताते हैं कि अमेरिका में 100 में से 88 अमेरिकी नागरिकों के पास हथियार मौजूद हैं। वर्ष 2013 से 2018 के बीच अमेरिका में गोलीबारी की 291 घटनाएं सामने आई थीं।

अमेरिका के द गन कंट्रोल एक्ट 1968 कानून के अनुसार किसी तरह का छोटा हथियार या राइफल खरीदने के लिए व्‍यक्ति की उम्र 18 वर्ष होनी जरूरी है। वहीं हैंडगन खरीदने के लिए व्‍यक्ति को कम से कम 21 वर्ष का होना चाहिए। फायर आर्म्‍स या कहें गन कल्‍चर को कम करने के लिए अमेरिका में किसी तरह की कोई संवेदनशीलता भी दिखाई नहीं देती है। ऐसा इसलिए क्‍योंकि वर्ष 2018 में अमेरिकी संसद के स्पीकर पॉल रेयान ने संसद में उठी उस मांग को खारिज कर दिया था जिसमें गन कल्‍चर को कम करने के लिए फायर आर्म्‍स के लिए कड़े नियमों को बनाने की मांग की गई थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *