UN पहुंचा पाकिस्तान में हिंदू मंदिर गिराने का मामला, भारत ने कहा- मूक दर्शक बनी रही इमरान सरकार

International

वाशिंगटन।(www.arya-tv.com) संयुक्त राष्ट्र के धार्मिक स्थलों की सुरक्षा के लिए शांति और सहिष्णुता की संस्कृति को बढ़ावा देने के लिए अपनाए गए प्रस्ताव पर विचार के दौरान भारत ने पाकिस्तान की नीयत पर सवाल उठाते हुए उसपर करारा हमला बोला। भारत ने प्रस्ताव पर चर्चा के दौरान खैबर पख्तूनख्वा प्रांत में पिछले साल दिसंबर में सैकड़ों लोगों की भीड़ द्वारा तोड़े गए एक हिंदू मंदिर की बर्बरता पर पाकिस्तान को फटकार लगाई।

भारत ने कहा कि दुनिया में आतंकवाद, हिंसात्मक अतिवाद, कट्टरपंथ और असहिष्णुता बढ़ रही है। इससे धार्मिक और सांस्कृतिक विरासत स्थलों को आतंकी गतिविधियों और विनाश का खतरा उत्पन्न हो गया है। भारत ने कहा कि इसका ताजा उदाहरण हाल ही में पाकिस्तान में देखने को मिला जहां पर एक ऐतिहासिक हिंदू मंदिर को तोड़ दिया गया और इमरान खान सरकार मूकदर्शक बनी रही।

संयुक्त राष्ट्र में भारत के राजदूत टीएस तिरुमूर्ति ने कहा कि बहुसांस्कृतिक देश होने के नाते भारत सभी धार्मिक और सांस्कृतिक अधिकारों की रक्षा करता है और धार्मिक स्थलों की सुरक्षा भी करता है। उन्होंने कहा कि जब पाकिस्तान में हिंदू मंदिर पर हमला हुआ तो वहां की सरकार बस मूक दर्शक बनी रही। वहां, सबपर एक जैसी कानूनी कार्रवाई नहीं होती और जब तक यह स्थिति बनी रहेगी तब तक दुनिया में शांति स्थापित करने की वास्तविक संस्कृति नहीं दिखेगी।

हालांकि, अपने जवाब देने के अधिकार के तहत पाकिस्तानी प्रतिनिधि ने भारत के आरोपों को खारिज कर दिया।
बता दें कि पाकिस्तान के खैबर पख्तूनख्वां के करक जिले में एक हिन्दू मंदिर में बीते महीने आग लगाने के साथ तोडफ़ोड़ की गई थी। इसे लेकर इमरान खान सरकार की काफी आलोचना हुई थी क्योंकि वह अकसर भारत में अल्पसंख्यकों को लेकर मोदी सरकार पर हमलावर रहते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *