PET के एग्जाम सेंटर बदलने की उठी मांग:मेरठ के छात्रों ने मुख्यमंत्री को भेजा पत्र

# ## Meerut Zone

(www.arya-tv.com)  उत्तर प्रदेश अधीनस्थ सेवा चयन आयोग की प्रारंभिक परीक्षा यानि PET के परीक्षा केंद्रों को लेकर परीक्षार्थियों में नाराजगी है। मेरठ में चौधरी चरण सिंह विवि के छात्रों ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से PET के परीक्षा केंद्रों को बदलने की मांग की है। परीक्षार्थियों ने सीएम को पत्र भेजा है। जिसमें होम डिस्ट्रक्ट में ही एग्जाम सेंटर देने की मांग की गई है।

200 किमी दूर सेंटर, परीक्षा से ज्यादा सेंटर का तनाव
सीसीएसयू के छात्र नेता विनीत चपराणा ने सीएम को पत्र भेजकर लिखा है कि उत्तर प्रदेश अधीनस्थ सेवा चयन आयोग की प्रारंभिक परीक्षा पीईटी के लिए परीक्षार्थियों का दूसरे जिले में सेंटर बनाया गया है। सेंटर 200 किमी दूर के जिलों में रखे हैं। इसकी वजह से परीक्षार्थियों को काफी परेशानी उठानी पड़ेगी। पीईटी परीक्षा में 30 लाख से ज्यादा परीक्षार्थी शामिल होंगे। एग्जाम से पहले जिस टाइम छात्रों को पढ़ाई पर फोकस करना चाहिए, वो समय दूसरे जिले में अपने सेंटर पर पहुंचने का तनाव होता है। इसलिए युवाओं के भविष्य को देखते हुए परीक्षा केंद्रों को गृह जनपद में किया जाए।

बेरोजगार युवाओं पर बढ़ाया खर्च का बोझ
छात्रसंघ के पूर्व महामंत्री अंकित अधाना ने पत्र में कहा कि समाज के युवा बेरोजगार हैं। नौकरी पाने के लिए जो युवा ये परीक्षा दे रहा है। पढ़ाई कर रहा है अगर वो दूसरे जनपद में जाकर पेपर देता है तो उस पर खर्च का अतिरिक्त बोझ पड़ता है। सरकार ने दूसरे जिलों में सेंटर बनाकर बेरोजगारों पर खर्च बढ़ाया है। सरकार इसे देखे। बेरोजगार नौजवानों की कुछ फिक्र करे।

गृह जनपद में सेंटर, निशुल्क यात्रा
युवाओ ंने सीएम से गृह जनपद में ही परीक्षा केंद्र बनाने की मांग की है। साथ ही प्रवेश पत्र के आधार पर उस दिन परीक्षार्थियों को सरकारी बस, रेल, वाहन में किराए में छूट भी मांगी है। ताकि बेरोजगार युवा तनावमुक्त होकर पेपर दे सकें।

मेरठ में 56 केंद्रों पर होगा पेपर
उत्तर प्रदेश अधीनस्थ सेवा चयन आयोग की तरफ से 15-16 अक्तूबर को होने वाली प्रारंभिक अर्हता परीक्षा की तैयारियां मेरठ में पूरी हो चुकी हैं। मेरठ में 56 केंद्रों पर परीक्षा होगी। मेरठ जिले में 1.18 लाख परीक्षार्थी शामिल होंगे। दो पालियों में परीक्षा होगी। सुबह 10 बजे से दोपहर 12 बजे तक और दोपहर 3 बजे से शाम 5 बजे तक पेपर होगा। परीक्षा की हर पाली में 29,520 परीक्षाथी्र शामिल होंगे।

56 सेक्टर मजिस्ट्रेट किए गए तैनात
परीक्षा के लिए जिला प्रशासन ने स्टेटिक मजिस्ट्रेट, सभी 56 केंद्रों पर सेक्टर मजिस्ट्रेट तैनात किए हैं। सेंटर पर केंद्राध्यक्ष भी रहेंगे। स्कूलों के प्राचार्य और शिक्षक भी ड्यूटी देंगे। सेक्टर और स्टेटिक मजिस्ट्रेट एक दिन पहले केंद्रों का निरीक्षण करेंगे। वहीं एडीएम सिटी दिवाकर सिंह को परीक्षा का नोडल अधिकारी और जिला विद्यालय निरीक्षक राजेश कुमार को समन्वयक बनाया गया है। 25 अधिकारी रिजर्व में रखे गए हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *