गर्वित द्वारा सनातनी बालकों की भी आत्मरक्षा की ट्रेनिंग आरंभ

Lucknow
  • विपुल लखनवी ब्यूरो प्रमुख पश्चिमी भारत

(www.arya-tv.com)नवी मुंबई खोपरखैराने स्थित ग्रामीण आदि रिसर्च और वैदिक इनोवेशन ट्रस्ट यानी गर्वित द्वारा बालिकाओंं के साथ बालकों की भी आत्मरक्षा की ट्रेनिंग भी आरंभ की गई।

गर्वित के अध्यक्ष विपुल लखनवी के अनुसार खोपरखैराने की अथवा आसपास क्षेत्रों के इच्छुक बालक और बालिकाएं जो 10 वर्ष से ऊपर की है। उनको आत्मरक्षा के विषय में जानकारी देने की अतिरिक्त अभ्यास आरंभ किया गया है।

आजकल के बढ़ते मोबाइल के कारण बालक और बालिकाएं किसी भी प्रकार के व्यायाम से वंचित रहतें है और कोमल भी हो जाते हैं। इसको ध्यान में रखते हुए प्रत्येक रविवार कोपर खैराने के कार्यालय में सायंकाल चार से पांच बालक एवं पांच से छह बालिकाओं का आत्मरक्षा अभ्यास आरंभ किया गया है।

अभ्यास के पूर्व बुद्धि के देव श्री गणेश की वंदना एवं बल हेतु हनुमान चालीसा का पाठ किया जाता है। इसके पश्चात शिवाजी महाराज की फोटो के सामने बच्चों को शिवाजी महाराज बनने की प्रेरणा एवं बालिकाओं को जिजामाता और रानी लक्ष्मीबाई बनने की प्रेरणा प्रदान की जाती है।

इस संदर्भ में ट्रस्ट ने खोपरखैराने स्थित कार्यालय भूमि में कुछ दिन पूर्व कन्याओं की ट्रेनिंग आरंभ की थी। और अब बालकों की भी आत्मरक्षा ट्रेनिंग आरंभ कर दी है। इस कार्यक्रम का आरंभ और संयोजन स्थानीय शिक्षिका अक्षिता चौधरी के नेतृत्व में किया जा रहा है।

ट्रस्ट की योजना है की धीरे-धीरे पूरे भारत में सनातनी बालक व बालिकाओं की निशुल्क ट्रेनिंग आरंभ की जाएगी। इस पुनीत कार्य में निशुल्क सेवा देने के इच्छुक गर्वित के कार्यालय से संपर्क कर सकते हैं।