अभी कृष्ण जन्म भूमि बाकी है, अगली पीढ़ी रहें तैयार : विनय कटियार

Lucknow
  • मंदिर निर्माण के नीवं रहें कारसेवकों का शौर्य दिवस की पूर्व संध्या पर हुआ सम्मान, सम्मान पाकर कारसेवकों की छलकी आंखे

(www.arya-tv.com)गोमती नगर स्थित सिटी मोंटेसरी स्कूल में शौर्य दिवस 6 दिसंबर की पूर्व संध्या पर 5 अक्टूबर को कारसेवकों को नमन करने हेतु श्रद्धेय कल्याण सिंह सनातन सेवा स्मृति न्यास द्वारा कर कारसेवकों को अभिनंदन करने हेतु “राम रस में भीगी शाम, कारसेवकों के नाम” कार्यक्रम का आयोजन किया गया।

जिसका शुभारंभ अयोध्या आंदोलन के प्रमुख सिपाही रहे विनय कटियार, श्री राम मंदिर तीर्थ क्षेत्र के ट्रस्टी अनिल , उपमुख्यमंत्री बृजेश पाठक, अयोध्या से पधारे महामंडलेश्वर योगी नवल गिरी  महाराज, अयोध्या से पधारे महंत वैदेही बल्लभ शरण , महंत धर्मेंद्र दास , पूर्व महापौर संयुक्ता भाटिया  ने श्रीराम , भारत माता एवं श्रद्धेय कल्याण सिंह की प्रतिमा के समक्ष द्वीप प्रज्वलित कर, पुष्पर्चन कर किया।

इस मौके पर संस्था के अध्यक्ष प्रशान्त भाटिया , महामंत्री प्रशान्त त्रिपाठी ने सभी आगंतुकों को पुष्पगुच्छ, मोमेंटो एवं अंगवस्त्र प्रदान कर स्वागत किया।

इस मौके पर संस्था की ओर से कारसेवकों पर डॉक्यूमेंट्री फ़िल्म भी प्रदर्शन किया गया, जिसमें 1990 में कारसेवकों पर चली गोलियां, 1992 में बाबरी ढांचा गिराए जाने से लेकर श्रद्धेय कल्याण सिंह जी का सरकार की गद्दी न्योछावर करने उपरांत दिए गए वक्तव्यों को दिखाते हुए पूरे वातावरण को जय श्री राम के उद्घोष से सरोबार कर दिया।

इस मौके पर संस्था द्वारा छः दिसंबर 1992 को अयोध्या में कारसेवा करने वाले लखनऊ (लक्ष्मणपुरी) के कारसेवकों को का नेतृत्व करने वाले विनय कटियार जी, स्वर्गीय केसरी नाथ त्रिपाठी पूर्व प्रदेश अध्यक्ष के परिवार के सदस्य, पूर्व विधायक सुरेश तिवारी जी, राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के वरिष्ठ प्रचारक अशोक बेरी, वरिष्ठ प्रचारक अशोक केडिया, वरिष्ठ प्रचारक अशोक उपाध्याय, पूर्व नगर अध्यक्ष मनोहर सिंह जी, पूर्व नगर अध्यक्ष राजेन्द्र तिवारी जी, वरिष्ठ पत्रकार योगेश मिश्राज़ देवेंद्र अस्थाना, अशोक मिश्रा, जगदीश गांधी, डॉक्टर राजीव लोचन, सिंधी अकादमी के पूर्व उपाध्यक्ष नानक चंद लखमानी, आलोक पांडेय समेत 300 कारसेवकों को सम्मानित किया गया। शौर्य दिवस की पूर्व संध्या पर सम्मान पाकर कारसेवकों की आंखों से आसू छलक आये।

इस मौके पर संस्था के अध्यक्ष प्रशान्त भाटिया ने कहा कि श्री राम मंदिर निर्माण में कार्य सेवकों का बलिदान नीवं की ईंट के समान है। भव्य रामलला का मंदिर इस बलिदान को कभी भुला नहीं सकता। यदि ढांचा ना गिराया गया तो मंदिर का निर्माण संभव नहीं था। राम भक्तों ने जहां पूरे समाज को एक करने का कार्य किया। वही ढांचा को गिरकर वर्षों पुराने कलंक को मिटाने का भी कार्य किया था। 

इस मौके पर उपमुख्यमंत्री बृजेश पाठक ने कहा कि हमारे पूर्व के नीति निर्माताओं ने ढांचे को गिराने का कार्य किया था और हमारे आज माननीय मोदी जी मंदिर निर्माण कार्य कर रहे हैं। यदि ढांचा न गिरा होता तो मंदिर निर्माण का मार्ग प्रशस्त ना हो पता। इसका पूरा श्रेय कार सेवकों को जाता है। आज पूरी दुनिया में श्री रामलला का मंदिर चर्चा का विषय है, आज जहां राम लला का मंदिर बन रहा है उतना ही अयोध्या में पूरे विश्व के उद्योगपति आ रहे हैं। अयोध्या को सरकार पर्यटन स्थल के रूप में विकसित कर रही है। उपमुख्यमंत्री ने आगे कहा कि उस समय विनय कटियार जी का नाम मंदिर निर्माण के प्रमुख नेताओं में लिया जाता रहा था। आज जो अयोध्या का स्वरूप विकसित हो रहा है वह हमारे कार सेवकों की मेहनत का ही परिणाम है। कार सेवकों ने सोचा भी नहीं होगा कि जो पुनीत कार्य वह ढांचा गिराकर कर रहे हैं उसका परिणाम कितना सुखद रहेगा।

इस मौके पर श्री राम मंदिर तीर्थ क्षेत्र से अनिल जी ने अयोध्या में निर्माणधीन श्री राम मंदिर का पूरा ब्लू प्रिंट रखते हुए राम मंदिर दर्शन करने हेतु सभी कारसेवकों एवं राम भक्तों को आमंत्रित किया।

इस मौके पर लखनऊ भर से श्री राम का चित्र बनाकार लाये छात्रों में से 19 छात्रों को सम्मानित किया गया, एवं वीर रस के कवियों ने राममय काव्यपाठ करने के साथ ही रामरस की वर्षा से सभी को भीगो कर सभी में जोश का संचार किया।

इसके अतिरिक्त अन्य कवियों में-
कवि विजय प्रसाद त्रिपाठी,कवि हरि प्रकाश हरि, कवि एडवोकेट मृत्युंजय सिंह चौहान, मुस्लिम कवि एडवोकेट नुसरत जहां ने भी राम रस पान कर सभी का मन मोहा।

इस मौके पर अयोध्या आंदोलन के प्रमुख सिपाही रहे विनय कटियार, श्री राम मंदिर तीर्थ क्षेत्र के ट्रस्टी अनिल जी, स्वयंसेवक संघ के तत्कालीन क्षेत्र प्रचारक – वर्तमान में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के अखिल भारतीय कार्यकारिणी सदस्य अशोक बेरी , उपमुख्यमंत्री बृजेश पाठक, मथुरा से पधारे महामंडलेश्वर योगी नवल गिरी महाराज, अयोध्या से पधारे वैदेही बल्लभ शरण , महंत धर्मेंद्र दास , पूर्व महापौर संयुक्ता भाटिया , संस्था के अध्यक्ष प्रशान्त भाटिया, महामंत्री प्रशान्त त्रिपाठी सहित सैकड़ों की संख्या मे कारसेवक, राम भक्त एवं अन्य विशिष्ट जन मौजूद रहे।