lucknow news: मंत्री-आइपीएस अफसर समेत 224 में कोरोना की पुष्टि, तीन की गई जन

Lucknow UP

लखनऊ।(www.arya-tv.com) राजधानी में कोराेना की स्थिति भयावह बनी हुई है। मंत्री-आइपीएस अफसर समेत 224 में कोरोना की पुष्टि हुई है। आइपीएस नवनीत सिकेरा व मंत्री कमल रानी वरुण को कोरोना की पुष्टि हुई है। वहीं तीन लोगों की मौत हुई है। इसे लेकर अब तक राजधानीlucknow news: Corona confirmed in 224 including Minister-IPS officer, three made

में 48 लोगों की मौत हो चुकी है। वहीं 3531 लोगों में कोरोना की पुष्टि भी हो चुकी है।

मरीजों को अस्पताल में भर्ती होने के लिए जद्दोजहद भी करनी पड़ रही है। मरीजों की घंटों अस्पताल में शिफ्टिंग नहीं हो पा रही है। राजधानी के मालवीय नगर निवासी 36 वर्षीय पुरुष की तबियत खराब हो गई। उसकी जांच में काेरोना की पुष्टि हुई। 16 जुलाई को मरीज को केजीएमयू भर्ती कराया गया।

संस्थान के प्रवक्ता डॉ. सुधीर सिंह के मुताबिक मरीज में डायबिटीज व बीपी की समस्या थी। ऐसे में कार्डियो पल्मोनरी अरेस्ट हो गया। वेंटिलेटर पर इलाज के दरम्यान मरीज की सांसें थम गईं। वहीं लाल कुआं निवासी 65 वर्षीय बुजुर्ग को लोकबंधु से निजी मेडिकल कॉलेज रेफर किया गया।

इसी दरम्यान उसकी मौत हो गई। वहीं शहर निवासी 64 वर्षीय मरीज को 16 जुलाई को भर्ती कराया गया शनिवार को उसकी मौत हो गई। मेडिकल कॉलेज में पहुंची मरीज को डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया। राजधानी में कोविड से मृतकों की संख्या अब 48 पहुंच गई है।

इसके अलावा एक बिहार निवासी 47 वर्षीय महिला की भी मौत हो गई।राजधानी में शनिवार को मंत्री व आइपीएस अफसर समेत 224 लोगों को कोरोना की पुष्टि हुई है। आइपीएस नवनीत सिकेरा को भी कोरोना की पुष्टि हुई है। वहीं राज्यमंत्री कमल रानी वरुण की जांच सिविल अस्पताल में हुई है।

उन्हें पीजीआइ में भर्ती कराने का फैसला  लिया गया है। नवनीत सिकेरा को आनंदी वाटर पार्क के कोविड सेंटर में भर्ती कराया गया है। वहीं कुल 224 लोगों में कोरोना की पुष्टि हुई है। जिसमें इंदिरानगर के आठ, गोमतीनगर के 15, एलडीए कॉलोनी के तीन, आइआइएम रोड के तीन, पारा के दो समेत अन्य मरीज हैं।

अब तक कुल 3531 मामले हो चुके हैं। वहीं 139 लोग स्वस्थ्य हो चुके हैं। सीएमओ कार्यालय में एक और कर्मचारी संक्रमण की चपेट में आ गया। यह डाटा फीडिंग का काम करता था। वहीं पांच दिन से जुकाम-बुखार था। ऐसे में दफ्तर को 48 घंटे के लिए बंद कर दिया गया।

सीएमओ कार्यालय में कर्मचारियों में भी संक्रमण बढ़ रहा है। सप्ताह भर में दूसरे कर्मचारी में वायरस की पुष्टि हुई है। इसमें जुकाम-बुखार की समस्या थी। ऐसे में छुट्टी पर भेज दिया गया। शनिवार को रिपोर्ट पॉजिटिव आई। ऐसे में दफ्तर में हड़कंप मच गया।

उसके संकर्प में आए आठ लोगों को क्वारंटाइन में भेजा गया। वहीं सुबह उच्चाधिकारी भी कार्यालय निरीक्षण के लिए पहुंचे थे। उनमें भी संक्रमण का भय पसरा रहा। मोहनलालगंज में गुरुवार को तीन पुलिसकर्मी कोरोना संक्रमित पाए गए।

कई बार प्रयास के बावजूद एंबुलेंस नहीं मिल सकी। उन्हेंं शनिवार को अस्पताल भेजा जा सका। सीएचसी प्रभारी डॉ. ज्योति कामले के मुताबिक गुरुवार को सूचना सीएमओ कार्यालय भेज दी गई थी। ऐसे ही कई मरीज 24 घंटे से घरों में फंसे हैं।

जवाहर भवन के कोरोना कंट्रोल रूम में तैनात एक डॉक्टर की शुक्रवार को रिपोर्ट पॉजिटिव आई। शनिवार दोपहर डेढ़ बजे तक अस्पताल में शिफ्ट नहीं किए जा सके। ऐसे ही कानपुर रोड स्थित मानसरोवर योजना निवासी एक व्यक्ति को बुखार, सर्दी-जुकाम था। सीएमओ कंट्रोल रूम में फोन किया। मदद नहीं मिल सकी। गुरुवार को उनकी घर में ही मौत हो गई थी। उनके दो बच्चों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई। शुक्रवार शाम से परिवारजन बच्चों को भर्ती करने के लिए फोन करते रहे। शनिवार दोपहर में बच्चों को भर्ती किया जा सका।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *