राजधानी में विस्फोटक कोहराम पीएसी के 19 जवान संक्रमण की चपेट में संख्या हुई 627

Lucknow UP

लखनऊ।(www.arya-tv.com) उत्तर प्रदेश की राजधानी में कोरोना वायरस का एक बार फिर से विस्फोट हो गया है और इसकी संख्या में लगातार तेजी ही आती जा रही है, मरीजों की संख्या में लगातार इजाफा हो रहा है। मंगलवार को कोरोना के 24 नए केस सामने आए हैं। इसमें पीएसी के 19, सीएम हेल्पलाइन के 4 और सहादतगंज का एक मरीज पॉजिटिव है। बता दें, बीते दिन सोमवार को माह में सबसे अधिक मरीज पॉजिटिव पाए गए।

इसमें सीएम हेल्पलाइन के 27 कर्मियों समेत 40 में वायरस की पुष्टि हुई। ऐसे में राजधानी में कोरोना पॉजिटिव मरीजों की संख्या 627 हो गई है। गोमती नगर स्थित सीएम हेल्पलाइन के चार कर्मी और पॉजिटिव निकले हैं। वहीं, बीते दिन 27 कर्मियों में वायरस की पुष्टि हुई है। ऐसे में हेल्पलाइन में संक्रमित कर्मचारियों की संख्या बढ़कर अब 84 हो गई है। मालूम हो कि सोमवार को जानकीपुर में तीन मरीजों में संक्रमण पाया गया। लालकुआं के दो मरीज, एलडीए कॉलोनी कानपुर रोड के दो मरीज, एक डालीगंज, एक राजाजीपुरम, एक गोमती नगर, एक सरोजनीनगर, एक कृष्णानगर के मानस नगर का मरीज व एक बालागंज क्षेत्र में कोरोना का मरीज मिला है। दिन में पॉजिटिव आए मरीजों को अस्पतालों में शिफ्ट कर दिया गया। वहीं, देर रात रिपोर्ट आने वाले मरीजों के अस्पताल में शिफ्ट करने के निर्देश दिए गए हैं। पॉजिटिव केस में 17 महिला व 23 पुरुष हैं।

सीएम हेल्पलाइन में 800 कर्मचारी कार्यरत हैं। अब तक कुल 84 कर्मचारी संक्रमित पाए जा चुके हैं। यह कर्मचारी अन्य कर्मियों से भी संपर्क में आए हैं। घर भी गए हैं। ऐसे में सैकड़ों में संक्रमण फैलने का भय है। परिवारजन, मकान मा लिकों में भी वायरस का खतरा बना हुआ है। एक जून से 15 जून तक 184 मरीज संक्रमित हो चुके हैं। इसमें सर्वाधिक केस 12 जून को रहे। इस दिन 31 मरीज कोरोना के पाए गए। वहीं, मंगलवार को सबसे ज्यादा 40 केस रहे। इससे पहले अप्रैल में एक दिन में 52 केस आ चुके हैं। मगर, जून में एक दिन में सर्वाधिक केस 40 ही हैं। ऐसे में अब मरीजों की संख्या बढ़कर 603 हो गई है। हॉटस्पॉट समाप्त हो चुके क्षेत्रों में वायरस लौट रहा है। डालीगंज में फिर कोरोना का मरीज मिला है। ऐसे ही शहर के अन्य इलाकों में भी वायरस की दोबारा दस्तक हुई है। इसको लेकर स्वास्थ्य विभाग अलर्ट हैं।

उनमें हेल्थ सर्वे व सैनिटाइजेशन का कार्य तेज कर दिया है। सोमवार को 340 लोगों का सैंपल संग्रह किया गया। गोमतीनगर क्षेत्र से गोसाईगंज के जगमोहनपुरवा गांव में ससुराल आए व्यक्ति की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आने पर ससुराल के 11 सदस्यों की कोरोना जांच के लिए सोमवार को सैम्पल लिए गए। सीएचसी अधीक्षक डॉ. हेमंत कुमार के अनुसार, गोमतीनगर क्षेत्र का एक व्यक्ति पत्नी के साथ अपनी ससुराल जगमोहन पुरवा आया था। उसके पहले कोरोना जांच के लिए उसका व पत्नी का सैंपल लिया गया। यह कर्मी सीएम हेल्पलाइन में तैनात है। ऐसे में गांव में भी हड़कंप मचा है।

राजधानी में तेजी से कोरोना मरीजों के संक्रमणमुक्त होने का सिलसिला जारी है। सोमवार को तीन अलग-अलग अस्पतालों से 16 मरीजों के स्वस्थ होने के बाद उन्हें छुट्टी दे दी गई। बीकेटी स्थित आरएसएम अस्पताल से सर्वाधिक 10 मरीज डिस्चार्ज किए गए। जबकि लोहिया संस्थान से पांच मरीज व एक मरीज अन्य संस्थान से स्वस्थ हुआ है। आरएसएम अस्पताल में कोरोना टीम के लीडर डॉक्टर रोहित सिंह ने बताया कि डिस्चार्ज किए गए 10 मरीजों में से छह महिलाएं व चार पुरुष हैं। इनमें से सात मरीज चिन्हट से एक ही परिवार के हैं। जबकि एक-एक मरीज क्रमश: माल क्षेत्र, मलिहाबाद व कमता का है। वहीं लोहिया संस्थान के अपर चिकित्सा अधीक्षक व प्रवक्ता डॉक्टर श्रीकेश सिंह ने बताया कि हमारे संस्थान से पांच मरीजों को डिस्चार्ज किया गया है। इनमें से चार मरीज फातिमा अस्पताल के स्टाफ हैं।

जबकि पांचवां मरीज भी राजधानी निवासी है। वहीं सीएमओ डॉक्टर नरेंद्र अग्रवाल के अनुसार एक मरीज अन्य संस्थान से भी डिस्चार्ज हुआ है। इस प्रकार कुल 16 कोरोना मरीज कोरोना संक्रमण से मुक्त हुए हैं। सभी को 14 दिन के लिए होम क्वारंटाइन में रहने को कहा गया है। यात्रियों की सुविधा के लिए रेलवे प्रशासन ने चारबाग रेलवे स्टेशन पर थर्मल स्कैनिंग के लिए कैमरे लगाए गए हैं। इससे एक ओर जहां यात्रियों की आवाजाही पर नजर रखी जा सकेगी। वहीं उन की स्कैनिंग भी की जा सकेगी। वाणिज्य अफसरों ने बताया कि लखनऊ एवं वाराणसी स्टेशनों पर थर्मल स्क्रीनिंग कैमरों को लगाया गया है। कोरोना संक्रमण से यात्रियों की सुरक्षा एवं भारत सरकार द्वारा इस आपदा के संबंध में जारी गाइड लाइन के अनुपालन में यह पहल की गई है। दोनों स्टेशनों पर अत्याधुनिक तकनीक से सुसज्जित थर्मल पॉवर कैमरे लगाए गए हैं।

इन कैमरों को स्टेशनों के प्रवेश एवं निकास द्वारों पर लगाया गया है। इनसे आने जाने वाले प्रत्येक यात्री की फोटो लेने के साथ ही उस यात्री की थर्मल स्क्रीनिंग भी हो सकेगी। इससे अब किसी कर्मचारी को थर्मल स्क्रीनिंग के लिए लगाने की कोई आवश्यकता नहीं होगी तथा सोशल डिस्टेंस के नियम का शत प्रतिशत अनुपालन संभव हो सकेगा। कर्मचारियों को संक्रमण से बचाने में भी मदद मिलेगी। इसकी निगरानी आर.पी.एफ. करेगी। सिविल अस्पताल में शनिवार को भर्ती हुए एक युवक की रिपोर्ट सोमवार को कोरोना पॉजिटिव आने के बाद हड़कंप मच गया है। बुखार व खांसी की शिकायत के बाद मरीज तीन दिन पहले इमरजेंसी में दिखाने आया था। डॉक्टरों के अनुसार उसे बुखार व खांसी के लक्षण थे। इसलिए उसे आइसोलेशन वार्ड में भर्ती कर लिया गया था। साथ ही संदिग्ध का नमूना लेकर कोरोना जांच को भेजा गया। सोमवार को कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद उसे लोकबंधु अस्पताल भेज दिया गया। साथ ही जिस वार्ड में युवक भर्ती था उसे खाली कराकर 24 घंटे के लिए सैनिटाइज कर बंद करवा दिया गया है। साथ में भर्ती दूसरे मरीजों को अलग वार्ड में भर्ती कर दिया गया है। संपर्क में आए लोगों की पांचवें दिन नियमानुसार जांच की जाएगी। पॉजिटिव मिला 26 वर्षीय युवक राजधानी के सरोजनी नगर का निवासी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *