बाइक बोट घोटाले में EOW ने की छापेमारी; बरेली, आगरा, कानपुर व बागपत में 245 बाइक बरामद

Uncategorized

(www.arya-tv.com)उत्तर प्रदेश में 4300 हजार करोड़ रुपये के बहुचर्चित बाइक बोट घोटाले में लखनऊ के बाद अब अब बरेली, आगरा, कानपुर और बागपत से 245 बाइक्स बरामद हुई हैं। मामले की जांच कर रही आर्थिक अपराध शाखा EOW ने गुरुवार को इन जिलों की पुलिस के साथ कार्रवाई करते हुए गाड़ियां बरामद कर कब्जे में लिए। दो सप्ताह पहले घोटाले से जुड़ी 143 बाइक्स लखनऊ से बरामद हुई थी।

डीजी ईओडब्ल्यू आरपी सिंह के मुताबिक, बाइक बोट घोटाले की जांच में उत्तर प्रदेश के लखनऊ, नोएडा समेत कई जिलों में बाईक को छिपा कर रखने की जानकारी मिली थी। बरेली, आगरा, कानपुर, बागपत, मुरादाबाद, उन्नाव, गौतमबुद्धनगर, अलीगढ़, गाजियाबाद व बुलंदशहर में भी छिपाकर रखी गईं 255 मोटरसाइकिलें चिन्हित की गई थीं।

EOW के अधिकारियों ने बरेली, आगरा, कानपुर, बागपत जिलों के एसपी से संपर्क कर 245 बाइकें चिन्हित इन्हें कब्जे में लेने को कहा था। इस तरह ठगी की रकम से खरीदी गईं करीब 600 से अधिक बाइकें सामने आई हैं। यह गाड़ियां जहाँ रखी गयी हैं उन जिलों के कप्तान को पत्र लिखकर जानकारी दी गई है।

लखनऊ से बरामद हुईं थीं 143 बाइकें

संबंधित अन्य जिलों में भी छापेमारी कर बाइक बरामद करने की प्रक्रिया बहुत जल्द पूरी की जाएगी। पिछले दिनों लखनऊ पुलिस ने निगोहां स्थित एक गोदाम में छापेमारी कर 143 से अधिक बाइक बोट बरामद की है। पुलिस ने गोदाम मालिक कुलदीप शुक्ला और सदर निवासी अमित अग्रवाल को हिरासत में लिया था। इन्हीं के इनपुट पर EOW ने इन जिलों में कार्रवाई की है।

1500 से अधिक गाड़ियां बरामद, ईडी भी कर रही जांचबाइक बोट घोटाले में प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) भी मनी लांड्रिंग के तहत केस दर्ज कर जांच कर रहा है। इससे जुड़े कई आरोपियों की संपत्तियां भी अटैच कर चुका है। ईओडब्ल्यू मामले में मेरठ व अन्य जिलों में 1500 से अधिक बाइक बरामद कर चुका है। लखनऊ में पकड़े गए आरोपित अमित अग्रवाल से पूछताछ में अन्य जिलों में बाइक खरीदे जाने के तथ्य प्रकाश में आए थे।

यह था मामला

वर्ष 2016 से वर्ष 2019 के बीच बाइक टैक्सी के नाम पर आकर्षक योजनाओं का झांसा देकर निवेशकों से करोड़ों रुपये की ठगी की गई थी। उत्तर प्रदेश समेत अन्य राज्यों के 1.75 लाख से अधिक निवेशकों ने इस योजना में अपनी रकम लगाई थी।

बाइक बोट घोटाले के मुख्य आरोपित गर्वित इनोवेटिव प्रमोटर्स लिमिटेड कंपनी के संचालक नोएडा के बसपा नेता संजय भाटी समेत अन्य के विरुद्ध गौतमबुद्धनगर में 57 मुकदमे दर्ज हैं। शासन के निर्देश पर इस मामले की जांच ईओडब्ल्यू कर रही है। इससे पूर्व जून 2020 में आर्थिक अपराध अनुसंधान शाखा ने मेरठ में करीब 225 बाइक बरामद की थीं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *