3 लाख सैनिक भर्ती करेंगे पुतिन:कहा- NATO ने एटमी हमले की धमकी दी

# ## International

(www.arya-tv.com)  रूस-यूक्रेन जंग के बीच पुतिन ने यूक्रेन में सैनिकों की तैनाती बढ़ाने की बात कही है। इसके तहत रूस 3 लाख रिजर्व सैनिकों को इकट्ठा कर रहा है। इसके पहले उन्होंने पश्चिमी देशों पर ‘न्यूक्लियर ब्लैकमेल’ का आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि नाटो के कुछ बड़े नेता रूस के खिलाफ एटमी हथियार इस्तेमाल करने की धमकी दे रहे हैं।

पुतिन ने कहा- अगर पश्चिमी देश परमाणु हथियारों के इस्तेमाल को लेकर ब्लैकमेल करेंगे तो रूस भी अपनी पूरी ताकत से जवाब देगा। हम अपने देश की रक्षा के लिए किसी भी हद तक जा सकते हैं। इसके लिए पुतिन ने सेना के मोबिलाइजेशन को लेकर एक डिक्री पर साइन किया है।

यूक्रेन के 4 हिस्सों पर कब्जा चाहता है रूस
दरअसल, पुतिन ने रूस की मिलिट्री पावर को बढ़ाने के साथ यूक्रेन के डोनबास पर अपना कब्जा जमाने की तैयारी तेज कर दी है। डोनबास के अलावा रूस यूक्रेन के खेरसॉन और जपोरिजिया को अपना हिस्सा बनाने की कोशिश कर रहा है। पुतिन ने इन इलाकों में जनमत संग्रह कराने का आदेश दिया है।

जनमत संग्रह कराने से आने वाले दिनों में डोनेट्स्क, लुहांस्क, खेरसॉन और जपोरिजिया में रहने वाले लोग रूस में शामिल होने पर वोट करेंगे। इस इलाके में रूसी नागरिकों की संख्या काफी ज्यादा है। यहां रूस के कब्जे का मतलब यूक्रेन का आर्थिक रूप से तबाह होना है।

जंग की शुरुआत से धमकी दे रहा रूस

  • जंग की शुरुआत से ही पश्चिमी देशों ने रूस का विरोध करना शुरू कर दिया था। कई प्रतिबंध भी लगाए। इसे लेकर 10 मार्च को पुतिन ने कहा था- वेस्टर्न कंट्रीज ने हम पर बेवजह प्रतिबंध लगा रखे हैं। इससे रूस को कई परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है।
  • 28 अप्रैल को पुतिन ने पश्चिमी देशों को एक बार फिर चेतावनी दी थी। उन्होंने कहा था- अमेरिका और उसके सहयोगी देश यूक्रेन का साथ देकर हमले के लिए उकसा रहे हैं। हमारे सब्र की परीक्षा न लें।
  • 6 जून को पुतिन ने यूक्रेन को रॉकेट सिस्टम भेजने के खिलाफ पश्चिमी देशों को धमकाया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *