किशोरी से दुष्कर्म और हत्या के मामले में पुलिस ने लगाई चार्जशीट, छह मुख्य गवाहों के अलावा 25 लोगों के बयान दर्ज

Agra Zone

आगरा(www.arya-tv.com) किशोरी की दुष्कर्म के बाद हत्या के मामले में पुलिस ने दस दिन में आरोपितों के खिलाफ चार्जशीट लगा दी है। छह मुख्य गवाहों के अलावा 25 लोगों के बयान दर्ज किए गए हैं। इसके साथ ही पुलिस ने सजा दिलाने को मजबूत साक्ष्य संकलन किया है। मामले की फास्ट ट्रैक कोर्ट में सुनवाई होगी।

सिकंदरा के गैलाना में 19 मार्च को शौच को गई किशोरी की दुष्कर्म के बाद हत्या कर दी गई थी। उसका शव जंगल में बने तालाब में पड़ा मिला था। पुलिस ने पड़ोसी राहुल व एक नाबालिग को गिरफ्तार कर मामले का पर्दाफाश कर दिया। नाबालिग किशोर संप्रेक्षण गृह में हैं और मुख्य आरोपित राहुल जेल में है।

एडीजी राजीव कृष्ण ने मामले में सौ दिन में आरोपितों को सजा दिलाने के निर्देश दिए थे। इंस्पेक्टर सिकंदरा ने बताया कि बुधवार को मामले में चार्जशीट लगा दी गई है। इसमें मुख्य गवाह छह हैं। इनमें से एक वह है, जिसने आरोपितों को किशोरी के पीछे जाते देखा था।

पुलिस ने केस डायरी में 25 लोगों के बयान दर्ज किए हैं। इनके साथ ही फोरेंसिक साक्ष्य भी जुटाए गए हैं। डीएनए और खून के सेंपल मिलान को विधि विज्ञान प्रयोगशाला भेजे गए हैं। जल्द ही इनकी रिपोर्ट हासिल करने के प्रयास किए जा रहे हैं। रिपोर्ट आते ही कोर्ट में पेश की जाएगी। मजबूत पैरवी कर आरोपितों को जल्द सजा दिलाने का प्रयास किया जाएगा।

ये हैं केस में साक्ष्य

  • आरोपित की चप्पलों पर लगी कीचड़। मौके से लिए गए नमूने से इनका मिलान कराया जा रहा है।
  • आरोपितों के पास से बरामद हुए किशोरी के कपड़े और बोतल।
  • आरोपितों के कपड़ों पर लगे खून के निशान। इनसे किशोरी के खून के सेंपल से मैच कराया जाएगा।
  • किशोरी के पोस्टमार्टम के दौरान ली गई स्लाइड। इसको परीक्षण के लिए फोरेंसिक लैब भेज दिया गया है। आरोपित के स्पर्म का सेंपल लेकर डीएनए मिलान को भेजा गया है। यह मजबूत साक्ष्य होगा।
  • घटनास्थल से मिले प्यूबिक हेयर का डीएनए मिलान कराया जा रहा है।