इक्विटास स्‍मॉल फाइनेंस बैंक लिमिटेड के गोल्‍ड लोन्‍स उपलब्‍ध

Business
  • इक्विटास स्‍मॉल फाइनेंस बैंक लिमिटेड के गोल्‍ड लोन्‍स करेंगे ग्राहकों की वित्‍तीय आवश्‍यकताओं की पूर्ति

(www.arya-tv.com)इक्विटास स्‍मॉल फाइनेंस बैंक लिमिटेड (बैक) जो 31 मार्च 2019 के आंकड़ों के अनुसार बैंकिंग आउटलेट्स की संख्‍या की दृष्टि से भारत का सबसे बड़ा स्‍मॉल फाइनेंस बैंक (एसएफबी) है (स्रोत: क्रिसिल रिपोर्ट) ग्राहकों की वित्‍तीय आवश्‍यकताएं पूरी करने के लिए गोल्‍ड लोन उपलब्‍ध करा रहा है।

ग्राहकों को सर्वोत्‍तम सेवा प्रदान करने के उद्देश्‍य से गोल्‍ड लोन के दस्‍तावेजीकरण की प्रक्रिया सरल बनायी गयी हैए ताकि उन्‍हें तुरंत ऋण प्राप्‍त हो सके। इस प्रोडक्‍ट के लिए एनएसीएच चुकौती की सुविधा भी उपलब्‍ध है। ग्राहकों के गोल्‍ड ज्‍वेलरी से हासिल किये गये लोन को मात्र एकमुश्‍त भुगतान से चुकाये जाने के विकल्‍प के बजाये मासिक किश्‍तों में या इंटरेस्‍ट मोड स्‍कीम के जरिए ऋण चुकाने का विकल्‍प उपलब्‍ध कराया गया है। औसतन 30,000 रु. से लेकर 40 लाख रुपये तक का लोन प्रदान किया जा रहा है। किसी भी स्‍कीम की अधिकतम ऋण अवधि 24 महीने है।

इक्विटास एसएफबी की निकटतम शाखा में जाकर ग्राहक यह लोन ले सकते हैं। इस गोल्‍ड लोन की सुविधा का लाभ लेने वाले ग्राहक इसे ईएमआई में चुका सकते हैं। इक्विटास एसएफबी द्वारा इस उत्‍पाद के लिए ओवरड्राफ्ट की सुविधा भी उपलब्‍ध कराई जा रही है।

इक्विटास स्‍मॉल फाइनेंस बैंक लिमिटेड के . ब्रांच बैंकिंग लायबिलिटीज प्रोडक्‍ट एंड वेल्‍थ के प्रेसिडेंट और कंट्री हेड मुरली वैद्यनाथन ने बताया इक्विटास एसएफबी का उद्देश्‍य अपने मौजूदा और संभावित ग्राहकों को सर्वोत्‍तम कोटि के उत्‍पाद उपलब्‍ध कराना है। हमारा मानना है कि भारत में गोल्‍ड लोन, लोन प्रोडक्‍ट्स का एक सेगमेंट है, जिसे आने वाले समय में और अधिक बढ़ने का अनुमान है। इससे ग्राहकों को सामान्‍य तौर पर उनकी बेहद जरूरी वित्‍तीय आवश्‍यकताएं पूरी करने में मदद मिलती है। गोल्‍ड लोन मार्केट को अगले तीन वर्षों में लगभग 10 प्रतिशत सीएजीआर की दर से बढ़कर वित्‍त वर्ष 2022 तक बढ़कर 3.8 ट्रिलियन होने का अनुमान है। स्थिर मांग और जागरूकता पैदा करने वाली पहलों से इस इंडस्‍ट्री का विभिन्‍न भौगोलिक क्षेत्रों में मदद मिलने का अनुमान है। उत्‍तरी, पश्चिमी और पूर्वी क्षेत्रों में गोल्‍ड लोन की मांग लगातार बढ़ रही है।