ब्रिटेन में नए वायरस का खतरा:UK में नोरो वायरस के केस बढ़े, जानिए इसके बारे में सबकुछ

Health /Sanitation International

(www.arya-tv.com)पिछले 5 हफ्तों में ब्रिटेन में नए वायरस का संक्रमण तेजी से फैल रहा है। यहां लोग नोरो वायरस से संक्रमित हो रहे हैं। पब्लिक हेल्थ इंग्लैंड (PHE) के मुताबिक, अब तक इसके 154 केस मिले हैं। ब्रिटिश स्वास्थ्य विभाग तेजी से बढ़ रहे नोरो वायरस के केसों को लेकर चिंता जाहिर कर रहा है। जानिए इस नोरो वायरस के बारे में सबकुछ…

नोरो वायरस क्या है?
सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन (CDC) ने बताया कि नोरो वायरस की वजह से लोगों को उल्टी और दस्त की शिकायत होती है। PHE ने इसे विंटर वोमिटिंग बग कहा है। CDC ने कहा कि नोवा वायरस से संक्रमित व्यक्ति बहुत सारे पार्टिकल्स फैलाता है, लेकिन इनमें से कुछ ही दूसरे व्यक्ति को संक्रमित कर सकता है।

कोई नोरो वायरस से किस तरह संक्रमित हो सकता है?
कोविड महामारी से पहले से ही परेशान चल रहे इंग्लैंड के लिए नोरो वायरस नई चुनौती बनता जा रहा है। CDC ने बताया कि किसी संक्रमित व्यक्ति से सीधे संपर्क में आने वाला व्यक्ति भी नोरो वायरस से संक्रमित हो सकता है। दूषित खाने और पानी के अलावा दूषित सतह छूने से भी ये फैलता है। अगर आपने किसी ऐसी सतह को छुआ है, जो दूषित है और बिना हाथ धुले खाना खा लिया है तो आप नोरो वायरस के शिकार हो सकते हैं। आमतौर पर जिस तरह से वायरस फैलता है, नोरो वायरस के फैलने के भी वही तरीके हैं।

नोरो वायरस से लक्षण क्या हैं?
CDC ने बताया कि दस्त, उल्टी, चक्कर आना और पेट में दर्द नोरो वायरस से लक्षण हैं। इससे आंतों और पेट में सूजन व जलन हो सकती है। इसके अलावा बुखार, सिरदर्द और बदन दर्द भी इसके लक्षण हैं। वायरस के संपर्क में आने के बाद ज्यादातर लोगों में 12 से 48 घंटों के भीतर लक्षण दिखाई देने लगते हैं और ये 1 से 3 दिन तक रहता है।

क्या कोई इस वायरस से कई बार संक्रमित हो सकता है?
CDC ने कहा कि हां इससे लोग कई बार संक्रमित हो सकते हैं। CDC के मुताबिक, कई तरह के नोरो वायरस पाए जाते हैं और इन्हीं की वजह से एक व्यक्ति कई बार संक्रमित हो सकता है। एक नोरो वारयस के संक्रमण से उबरने के बाद ये आपको दूसरी तरह के नोरो वायरस से सुरक्षा नहीं देता है। ऐसे में आप किसी एक तरह के नोरो वायरस के खिलाफ इम्युनिटी डेवलप कर सकते हैं, लेकिन दूसरे पर भी ये काम करे, इसके प्रमाण नहीं है। एक्सपर्ट अभी ये भी रिसर्च कर रहे हैं कि ये इम्युनिटी कितने वक्त तक रहती है।

नोरो वायरस के संक्रमण को कैसे रोका जा सकता है?
सही तरह से हाथ धोना ही नोरो वायरस को रोकने का तरीका है। जिस तरह से कोरोना वायरस के संक्रमण को रोका जाता है, वही तरीका नोरो वायरस में भी इस्तेमाल किया जाता है। खाने, खाना बनाते वक्त, खाना देते वक्त, खुद दवा खाते वक्त या किसी को दवा देते वक्त आपको अपने हाथों को सही तरह से साफ करना होगा।

इस वायरस का उपचार क्या है?
अभी तक इसके उपचार के लिए कोई दवा नहीं बनी है। एक्सपर्ट का कहना है कि उल्टी और दस्त की वजह से आपके शरीर का बहुत सा पानी निकल जाता है, ऐसे में इस वायरस से लड़ाई के लिए आपको लिक्विड ज्यादा मात्रा में लेना होता है। इससे आप पानी की कमी से बचे रहते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *