पीजीआई में हुई कांग्रेस के जिला सचिव की मौत

Lucknow UP

लखनऊ।(www.arya-tv.com) रायबरेली के कांग्रेस जिला सचिव की लखनऊ के पीजीआई में शाम को मौत हो गई।अब प्रशासन अंतिम संस्कार में शामिल होने वाले लोगों का सैम्पल लेने की तैयारी में जुटा। ऊंचाहार के निवासी कांग्रेस के वरिष्ठ नेता नजमुल हसन का बुधवार की रात लखनऊ में इलाज के दौरान निधन हो गया। इनका लिवर किडनी का इलाज काफी दिनों से पीजीआइ में चल रहा था। मंगलवार को अचानक तबियत खराब होने पर उन्हें पीजीआइ लखनऊ ले जाया गया था। हसन पार्टी के जुझारू नेता के साथ सामाजिक कार्यकर्ता भी थे। लॉक डाउन के दौरान वे गरीब व असहायों की मदद में सक्रिये रहे। पिछले हफ्ते तक उन्होंने पार्टी के रसोई कार्यक्रमों में भी बढ़चढ़ कर हिस्सा लिया था।

नजमुल हसन पार्टी के जिला सचिव के साथ ऊंचाहार विधानसभा क्षेत्र के सह प्रभारी का भी जिम्मेदारी निभा रहे थे। वह ऊंचाहार नगर पंचायत के अध्यक्ष का चुनाव भी लड़ चुके थे। रायबरेली सीएमओ ने बताया कि ऊंचाहार का मृतक नजमुल हसन कोरोना पॉजिटिव पाया गया है।उत्‍तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में गुुरुवार को कोरोना के 16 नए मरीज म‍िले। इसमें राजाजीपुरम में तीन, सरोजनी नगर में 3, गोमती नगर में 3, जानकीपुरम में 2, अवध विहार में 1, इंदिरानगर में 3, एक पीएसी जवान व एक अन्य मरीज है। इससे पहले बुधवार को आठ लोगों में कोरोना पॉजिटिव पाया गया है। ऐसे में राजधानी में अब संक्रमित मरीजों की संख्या 693 हो गई है। वहीं, मृतकों का आंंकड़ा 11 पहुंच गया है।

लखनऊ के मनकामेश्वर मंदिर वार्ड स्थित जोशी टोला में सीएम हेल्पलाइन दफ्तर में तैनात कर्मी रहती हैं। कुछ दिन पहले उसमें संक्रमण पाया गया। इसके बाद परिवार के अन्य सदस्यों के नमूने जांच के लिए भेजे गए। बुधवार को युवती की मां, पिता व चाची में वायरस की पुष्टि हुई है। ऐसे में डालीगंज में तीन नए कोरोना मरीज मिलने से मरीजों की संख्या पांच हो गई है।इंदिरानगर सेक्टर-सी निवासी एक पुरुष और विन्रमखंड निवासी एक पत्रकार में संक्रमण की पुष्टि हुई। इसके अलावा केजीएमयू में मौलवीगंज की जिस बुजुर्ग की कोरोना से मौत हुई, उसके एक रिश्तेदार में भी संक्रमण की पुष्टि हुई है। चिनहट निवासी सीएम हेल्पलाइन दफ्तर में काम करने वाली संक्रमित युवती की बहन भी पॉजिटिव मिली है।

इसके अलावा चौक में मेडिकल स्टोर संचालक संक्रमण की जद में आ गया है। संचालक ने निजी पैथोलॉजी सेंटर से जांच कराई है। वहीं, 493 लोगों के नमूने जांच के लिए केजीएमयू भेजा गया है।सीएमओ डॉ. नरेंद्र अग्रवाल के मुताबिक, ईडी के जोनल कार्यालय व जिला कोर्ट में संक्रमित व्यक्ति के संपर्क में आए कर्मचारियों की सूची मांगी गई है। इनकी जांच पांचवें दिन करवाई जाएगी। जिसमें भी संक्रमण पाया गया। उसे आइसोलेट किया जाएगा।जीआरपी के छह और जवानों को बुधवार को डिस्चार्ज कर दिया गया। श्रमिक स्पेशल ट्रेनों से आने वाले प्रवासियों के लिए ड्यूटी पर तैनाती के दौरान यह सिपाही कोरोना संक्रमित हो गए थे। उनको लोकबंधु अस्पताल में भर्ती कराया गया था।

चारबाग स्टेशन पहुंचने पर सभी छह जीआरपी सिपाहियों का ताली बजाकर स्वागत किया गया। राजधानी में मरीजों की लगातार बढ़ती संख्या के साथ कंटेनमेंट जोन का बढ़ना भी जारी है। बुधवार को तीन नए इलाकों को कंटेनमेंट जोन बनाया गया। हालांकि, राहत की बात यह रही कि दो क्षेत्रों को कंटेनमेंट सूची से बाहर भी कर दिया गया। सीएमओ प्रवक्ता योगेश रघुवंशी ने बताया कि दुबग्गा स्थित चरक हॉस्पिटल एंड रिसर्च सेंटर व आसपास इलाका, सदर का बाल्मीकि विहार और सुल्तानपुर रोड स्थित ओमेक्स रेजिडेंसी को बुधवार को कंटेनमेंट जोन से बाहर कर दिया गया है। इन क्षेत्रों में पिछले 21 दिनों में कोई केस पॉजिटिव नहीं आया है। जबकि डालीगंज का जोशीटोला और मौलवीगंज इलाके को नया कंटेनमेंट जोन बनाया गया है। इन इलाकों में बैरिकेडिंग व सैनिटाइजेशन कराने का निर्देश दिया गया है। लोगों को जागरूक करने के लिए भी इलाके में अभियान चलाया जाएगा। पॉजिटिव मरीजों के संपर्क में आए लोगों के नमूने नमूना लेकर जांच के लिए भेजे जाएंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *