मुख्यमंत्री ने गोरखपुर में अमर उजाला सम्मान समारोह में बच्चों को सम्मानित किया

Lucknow
  • मुख्यमंत्री ने गोरखपुर में अमर उजाला सम्मान समारोह में बच्चों को सम्मानित किया

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि पुस्तकीय ज्ञान हमें शिक्षित बनाता है, लेकिन जब हमारी निर्भरता पुस्तकीय ज्ञान पर होती है तो एक समय बाद यह अंतर्मन से विलुप्त हो जाता है। जब व्यावहारिक धरातल पर इस ज्ञान का अवलोकन किया जाता है तो यह हमारे अंतःकरण में एक अमिट छाप छोड़ता है और जीवन पर्यन्त हमारे लिए एक नई प्रेरणा बनता है। जीवन की सफलता का मार्ग यहीं से प्रारम्भ होता है।
मुख्यमंत्री गोरखपुर में अमर उजाला द्वारा आयोजित सम्मान समारोह के अवसर पर अपने विचार व्यक्त कर रहे थे। उन्होंने बच्चों को सम्मानित किया। उन्होंने अमर उजाला द्वारा भावी पीढ़ी की प्रतिभा संवर्धन के लिए किए जा रहे कार्यों में सहयोग करने वाले 03 अधिकारियों को भी सम्मानित किया। ज्ञातव्य है कि अमर उजाला द्वारा जनपद गोरखपुर में ‘बाल मेला’ तथा ‘बाल उमंग’ कार्यक्रम का आयोजन किया गया था। इन कार्यक्रमों में आयोजित की गयी प्रतियोगिताओं में चयनित बच्चों को मुख्यमंत्री जी ने सम्मानित किया।

मुख्यमंत्री ने कहा कि अमर उजाला द्वारा बाल प्रतिभाओं के प्रोत्साहन के लिए ‘बाल मेला’ और ‘बाल उमंग’ कार्यक्रम, भावी भविष्य को उज्ज्वल बनाने और उन्हें समाज से जुड़ी हुई ज्वलन्त समस्याओं के प्रति जागरूक करने का माध्यम बन सकता है। यह आम जनमानस की चेतना को भी जाग्रत कर सकता है, यदि हम इन कार्यक्रमों में एक निरन्तरता बनाए रखें। पर्यावरण, जीव सृष्टि तथा भारत की भावी पीढ़ी को ज्ञानवान बनाने की दृष्टि से यह अत्यन्त आवश्यक है कि हम अलग-अलग महत्वपूर्ण मुद्दों के विषय में समय-समय पर बाल मेलों का आयोजन करें और इनसे जुड़े हुए कार्यक्रमों को बढ़ावा दें। यह प्रत्येक बच्चे के मन में अपने शहर, वाॅर्ड, मोहल्ले, अपनी विरासत तथा अपनी मातृभूमि के प्रति आत्मीयता का भाव पैदा करेंगे। अमर उजाला परिवार द्वारा प्रारम्भ की गयी यह मुहिम अत्यन्त सराहनीय है।

इस अवसर पर सांसद रवि किशन शुक्ल, दीन दयाल उपाध्याय गोरखपुर विश्वविद्यालय की कुलपति प्रो0 पूनम टण्डन, महायोगी गुरु गोरखनाथ विश्वविद्यालय के कुलपति मेजर जनरल (सेवानिवृत्त) डाॅ0 अतुल बाजपेयी, अमर उजाला के स्थानीय सम्पादक विनीत सक्सेना सहित शिक्षक, गणमान्य नागरिक एवं बच्चे उपस्थित थे।