मुख्यमंत्री ने विकास योजनाओं के लाभार्थियों को प्रमाण पत्र, आयुष्मानकार्ड तथा प्रतीकात्मक चेक वितरित किये, लाभार्थियों से प्रत्यक्ष संवाद किया

Uncategorized

(www.aryमुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आज जनपद संत कबीर नगर की करौंदा ग्राम सभा में विकसित भारत संकल्प यात्रा कार्यक्रम में प्रधानमंत्री आवास योजना, मुख्यमंत्री आवास योजना (ग्रामीण), आयुष्मान भारत योजना तथा एक जनपद, एक उत्पाद योजना, प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि तथा स्वामित्व योजना के लाभार्थियों को प्रमाण पत्र, आयुष्मान कार्ड तथा प्रतीकात्मक चेक वितरित किये। उन्होंने ‘मेरी कहानी, मेरी जुबानी’ के क्रम में विभिन्न विकास योजनाओं के लाभार्थियों से प्रत्यक्ष संवाद किया। मुख्यमंत्री जी ने जनपद संत कबीर नगर के ‘सेफ सिटी इनीशिएटिव’ का शिलान्यास किया तथा मनरेगा योजना के अन्तर्गत 21 अन्नपूर्णा भवनों का भूमि पूजन भी किया।
मुख्यमंत्री जी ने कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए कहा कि हम सभी विगत साढ़े 09 वर्षों में नए भारत का दर्शन कर रहे हैं। ऐसा भारत जिसे वैश्विक मंच पर सम्मान प्राप्त हो रहा है। नये भारत में राष्ट्रीय सुरक्षा तथा प्रत्येक नागरिक को सुरक्षा की गारण्टी प्राप्त हो रही है। आज देश में वर्ल्ड क्लास इन्फ्रास्ट्रक्चर मौजूद है। देश में एक्सप्रेस-वे, रेलवे, मेट्रो तथा अन्य बुनियादी सुविधाओं से जुड़े कार्य तेजी से चल रहे हैं। गांवों में कनेक्टिविटी, बिजली, हर घर नल योजना तथा अन्य कल्याणकारी योजनाओं के माध्यम से लोगों को बुनियादी सुविधाएं उपलब्ध कराई जा रही हैं।
मुख्यमंत्री ने कहा कि यह उनका सौभाग्य है कि उन्हें आज मध्यकालीन भक्तिमार्गीय संत कबीर दास जी की पावन निर्वाण स्थली के रूप में विख्यात संत कबीर नगर जनपद के बखीरा क्षेत्र में जो भाग्यनगर के रूप में विख्यात है, में आने का अवसर प्राप्त हुआ। यहां के कारीगरों द्वारा निर्मित बर्तन अत्यन्त गुणवत्तापूर्ण हैं। इन कारीगरों को एक जनपद, एक उत्पाद योजना से जोड़ा जा चुका है। यदि इन्हें पी0एम0 विश्वकर्मा योजना से जोड़ा जाएगा, तो प्रशिक्षण के साथ-साथ अन्य सुविधाओं का लाभ भी प्राप्त होगा। यह लोग स्थानीय स्तर पर अपनी कला और हस्तशिल्प के लिए जाने जाते हैं। इनके कौशल को आधुनिक परिप्रेक्ष्य में ढालने के लिए, इनकी कला को तेजी के साथ आगे बढ़ना चाहिए। इस दृष्टि से जनपद संत कबीर नगर स्थित संत कबीर अकादमी, मगहर में उल्लेखनीय कार्य कर रही है।
मुख्यमंत्री ने कहा कि ‘विकसित भारत संकल्प यात्रा’ प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी की वर्ष 2047 तक भारत को दुनिया की एक बड़ी ताकत के रूप में स्थापित करने की संकल्पना का हिस्सा है। ‘विकसित भारत संकल्प यात्रा’ पूरे देश में प्रत्येक ग्राम पंचायत व नगर निकायों में केन्द्र और राज्य सरकार की योजनाओं को जन-जन तक पहुंचाने तथा पंचप्रण की संकल्पना को व्यावहारिक धरातल पर उतारने के एक अभियान की तरह कार्य कर रही है।
प्रदेश के जनपद लखीमपुर खीरी और सोनभद्र से यह यात्रा प्रारम्भ हुई। वर्तमान में प्रदेश में 536 वीडियो वैन मोदी गारण्टी वैन के रूप में प्रतिदिन दो-दो कार्यक्रम करते हुए, व्यापक जनजागरण के साथ प्रत्येक दिन 1072 स्थानों पर लाभार्थियों को जोड़ते हुए विकसित भारत की संकल्पना को आगे बढ़ाने में अपना योगदान दे रही हैं। इनके माध्यम से योजनाओं से लाभान्वित व्यक्तियों का फीड बैक लिया जा रहा है। भगवान बिरसा मुंडा की पावन जयन्ती जनजातीय गौरव दिवस 15 नवम्बर, 2023 से प्रारम्भ हुई ‘विकसित भारत संकल्प यात्रा’ 26 जनवरी, 2024 तक चलेगी।
मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री ने आजादी के अमृत महोत्सव के मुख्य महोत्सव को सम्बोधित करते हुए देशवासियों से पंचप्रण करने का आह्वान किया था। जो लोग शासकीय योजनाओं से लाभान्वित हो रहे हैं, वह अपने अनुभवों को साझा कर रहे हैं तथा अपनी कहानी, अपनी जुबानी सुना रहे हैं। जिन लोगों को अभी तक योजनाओं का लाभ नहीं मिला है तथा जो पात्रता की श्रेणी में आते हैं, उन तक योजनाओं का लाभ शत-प्रतिशत पहुंचाने के लक्ष्य के साथ यह ‘विकसित भारत संकल्प यात्रा’ प्रारम्भ हुई है। उन्होंने जनपद के सभी जनप्रतिनिधियों, समाजसेवियों, मीडिया कर्मियों एवं नागरिकों से ‘विकसित भारत संकल्प यात्रा’ में पूरी निष्ठा व सहभागिता के साथ लोगों को जागरूक करने तथा पात्र लोगां को योजनाआें का लाभ दिलाने में सहयोग की अपील की।
मुख्यमंत्री जी ने कहा कि जरूरतमंदों को आवास, शौचालय, आयुष्मान कार्ड तथा राशन कार्ड आदि सुविधाएं उपलब्ध कराई जा रही हैं। लोगों को रोजगार से जोड़ा जा रहा है। जिन लोगों का बैंक खाता नहीं है, उनका जनधन खाता खुलवाया जा रहा है। लोगों को जीवन सुरक्षा बीमा योजनाओं से जोड़ा जा रहा है। पी0एम0 स्वनिधि योजना, आयुष्मान भारत योजना एवं प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना जैसी अनेक योजनाओं के माध्यम से लाभार्थियों की सहायता की जा रही है।
मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश में विगत 06 वर्षों में कल्याणकारी योजनाओं को मजबूती के साथ आगे बढ़ाया गया है। प्रदेश में 55 लाख से अधिक गरीबों को आवास, 03 करोड़ गरीबों को शौचालय, 01 करोड़ 75 लाख गरीबों को प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना के अन्तर्गत निःशुल्क रसोई गैस के कनेक्शन उपलब्ध कराए जा चुके हैं। जिन लोगों ने अपने कनेक्शन को आधार से लिंक कर लिया था, उन्हें दीपावली के अवसर पर निःशुल्क गैस सिलेण्डर रिफिल प्राप्त हुए हैं। आगामी होली पर्व के अवसर पर कनेक्शन को आधार से लिंक कराने वाले गरीबों को एक-एक निःशुल्क सिलेण्डर रिफिल उपलब्ध कराने की दिशा में कार्य किया जा रहा है। पी0एम0 गरीब कल्याण अन्न योजना के माध्यम से देश के 80 करोड़ लोगों तथा प्रदेश के 15 करोड़ लोगों को निःशुल्क राशन उपलब्ध कराया जा रहा है। आयुष्मान भारत योजना के अन्तर्गत 05 लाख रुपए तक के स्वास्थ्य बीमा कवर की सुविधा प्रत्येक गरीब को उपलब्ध करायी जा रही है।
इससे पूर्व, कार्यक्रम में मुख्यमंत्री के समक्ष उपस्थित लोगों को पंचप्रण की शपथ दिलाई गई तथा ‘विकसित भारत संकल्प यात्रा’ के उद्देश्यों पर आधारित एक लघु फिल्म का प्रदर्शन भी किया गया। मुख्यमंत्री ने विभिन्न विभागों द्वारा लगाये गये स्टॉलों का अवलोकन किया तथा 05 बच्चों का अन्नप्राशन एवं 05 महिलाओं की गोदभराई की।
इस अवसर पर ग्राम्य विकास राज्य मंत्री श्रीमती विजय लक्ष्मी गौतम सहित अन्य जनप्रतिनिधिगण तथा शासन-प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।