बुआ और भतीजी की कब्र खोदने में फैलाई थी अफवाह, जानें क्या है मामला

Kanpur Zone UP

कानपुर(www.arya-tv.com) उन्नाव में बुआ-भतीजी की हत्या के छठवें दिन दोनों की कब्र खोदे जाने व भीम आर्मी द्वारा फूल-माला चढ़ाने की फर्जी सूचना देकर अफवाह फैलाने वाले तीन आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है। यूट्यूब पर गांव का वीडियो देखकर गुस्से में आरोपियों ने 112 पर फर्जी सूचना देने की बात स्वीकार की है।

असोहा कांड में 19 फरवरी को बुआ-भतीजी के शव खेत में दफनाए गए थे। दो दिन बाद 22 फरवरी को 112 पर कॉल कर सूचना दी गई थी कि जेसेबी से कब्र खोदकर दोनाें शवों को बाहर निकाला जा रहा है। भीम आर्मी वहां पहुंचकर फूल-माला चढ़ाएगी। एक जनप्रतिनिधि की ओर से पीड़ित परिवार को एक करोड़ रुपये देकर सुलह-समझौता कराने की बात भी पुलिस से फोन पर कही थी।

सूचना पर सीओ रमेश चंद्र प्रलयंकर समेत पुलिस बल ने खेत पहुंचकर कांबिंग की थी। कुछ न मिलने पर पुलिस ने आईटी एक्ट व बलवा के लिए लोगों को उकसाने की धारा में रिपोर्ट दर्ज कर जांच शुरू की थी। गुरुवार को पुलिस ने फर्जी सूचना देने वाले आरोपी लखनऊ के मोहन लालगंज के कुंवर खेड़ा सिसेंडी निवासी राहुल रावत, आशियाना थाना के किला गांव निवासी समीर वर्मा और जय प्रकाश को गिरफ्तार किया है।

बता दें कि असोहा थाना क्षेत्र में 17 फरवरी को शाम सात बजे बुआ-भतीजी व चचेरी बहन बेसुध हालत में मिली थी। पिता का आरोप है कि तीनों को कालूखेड़ा स्थित नर्सिंगहोम ले गए थे। वहां मौजूद डॉक्टर ने इलाज करने से मना कर दिया था। इस पर सीएचसी ले जाया गया था। वहां दो को मृत व एक को गंभीर हालत में जिला अस्पताल रेफर कर दिया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *