भारतीय बाल साक्षरता मिशन ने शुरू किया कौशल विकास प्रशिक्षण

Lucknow UP
  • स्वयं सहायता समूह की महिलाओं के दस दिवसीय सिलाई प्रशिक्षण शुरू
  • आजीविका मिशन के बीबीएम ने प्रशिक्षण एवं पाठ्य सामग्री तथा ड्रेस का किया वितरण

सरोजनीनगर-लखनऊ। उप्र राज्य ग्रामीण आजीविका मिशन द्वारा प्रायोजित एवं उप्र कौशल विकास मिशन द्वारा भारतीय बाल साक्षरता मिशन के माध्यम से सरोजनीनगर के सहयोग परिवार परिसर में आयोजित दस दिवसीय सेल्फ एम्पलाॅड टेलर प्रशिक्षण कार्यक्रम मंगलवार को शुरू किया गया। प्रशिक्षण कार्यक्रम का उद्घाटन उप्र राज्य ग्रामीण आजीविका मिशन के बीबीएम ज्ञानेन्द्र सिंह ने किया।

श्री सिंह ने इस मौके पर सभी प्रतिभागियों को डेªस एवं पाठ्य सामग्री का भी वितरण किया गया। उद्घाटन समारोह को सम्बोधित करते हुए श्री सिंह कहा कि मौजूदा समय में वही लोग बेरोजगार है जिनके पास कोई तकनीकी ज्ञान नही है। जबकि कुशल कारीगरों को रोजगार तलाशने की जरूरत नही पड़ती। उन्होंने कहा कि महिलाएं सिलाई का प्रशिक्षण हासिल कर अपने घर पर ही कम लागत में खुद का व्यवसाय शुरू कर सकती है। उन्होंने बताया कि उप्र अनुसूचित वित्त विकास निगम द्वारा महिलाओ को सिलाई की दुकान खोलने के लिए 20 हजार रूपये का ऋण दिये जाने की योजना चलाई जा रही है।

इस योजना के तहत अनुसूचित जाति की महिलाएं बीस हजार का ऋण लेकर अपनी दुकान खोल सकती है। यही नही इस योजना के तहत विभाग द्वारा महिलाओं को पचास प्रतिशत अनुदन भी दिया जा रहा है। इस योजना के तहत ऋण लेने वाली महिलाओं को सिर्फ दस हजार रूपये ही आसान किस्तों में वापस करना होगा। कार्यक्रम का संचालन राज किशोर पासी ने किया।