नागरिकों के लिए जानलेवा बन सकती है डाक विभाग की लचर कार्यप्रणाली

Bareilly Zone UP

अशोक कुमार

हरदोई । जहां एक और प्रदेश सरकार और जिला प्रशासन कोरोना जैसी महामारी से बचाव के लिए एड़ी चोटी का जोर लगाए हुए हैं वही डाक विभाग कोरोना को गंभीरता से नहीं ले रहा है यही कारण है कि हरदोई स्थित प्रधान डाकघर में दो कर्मचारी कोरोना पॉजिटिव पाए जाने के बाद भी न तो डाकघर का नियमानुसार सैनिटाइजेशन कराया गया और ना ही उसे बंद किया गया यही नहीं डाक विभाग के अन्य कर्मचारियों Quarantine नहीं कराया गया।

डाक विभाग की लापरवाही का आलम यह है कि वह पूर्व की भांति ही खुलता और बंद होता है यहां आने वाले लोगों की भीड़ और आधार कार्ड बनवाने वालों की लाइन में भी सोशल डिस्टेंसिंग कोसों दूर दिखाई पड़ती है यदि यही हाल रहा तो वह दिन दूर नहीं जब कोरोना की चपेट में डाक कर्मचारियों के साथ-साथ डाक विभाग के उपभोक्ता और आधार कार्ड बनवाने के लिए आने वाले लोग भी कोरोना जैसी महामारी की जद में आ जाएंगे और इस संक्रमण महामारी को जाने-अनजाने बढ़ावा देने में सहायक सिद्ध होंगे समय रहते यदि जिला प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग तथा नगरपालिका ने डाक विभाग के विरुद्ध कठोर कदम ना उठाए तो डाक विभाग कोरोना जैसी महामारी को बढ़ावा देने और नागरिकों के बीच इस महामारी को बांटने का काम पूरी शिद्दत से करता रहेगा डाक विभाग के दो कर्मचारियों के कोरोना पॉजिटिव पाए जाने के बाद भी जहां डाक कर्मचारियों को ना चाहते हुए भी अपनी ड्यूटी पर प्रतिदिन आना पड़ रहा है वही कर्मचारियों में भय व दहशत का माहौल बना हुआ है तथा अपने ही विभाग के प्रति आक्रोश पनप रहा है जो कभी भी लावा बनकर फूट सकता है।