घंटे भर में बनेगा हजारों बच्चों का मिड-डे मील:पहले फेज में 143 स्कूलों में बंटेगा खाना

# ## Varanasi Zone

(www.arya-tv.com)  वाराणसी में स्कूली बच्चों का खाना मैगी की तरह दो मिनट में बनेगा। स्कूल के किचन में आते ही थाली में खाना परोसा मिलेगा। झटपट खाना पाकर बच्चे काफी उत्साहित होंगे। वाराणसी में ऐसे ही एक अक्षयपात्र कम्युनिटी किचन का उद्घाटन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी करने जा रहे हैं। इससे सबसे पहले सेवापुरी ब्लॉक के बच्चों को मिड डे मील दिया जाएगा। अर्दली बाजार के LT कॉलेज कैंपस में यह किचन तैयार किया गया है।

यहां 10 मिनट में 800 बच्चों का चावल पक जाएगा। 1 घंटे में 50 हजार रोटियां और 10 मिनट में 1600 लीटर दाल पकाई जा सकेगी। उद्घाटन के बाद वाराणसी के 143 सरकारी स्कूलों के 25 हजार बच्चों को यह सुविधा मिलेगी। वहीं, अगस्त में 1 लाख 25 हजार और अगले 6 महीने में 2 लाख बच्चों को अक्षयपात्र किचन मिड डे मील कराएगा।

24 करोड़ की लागत से बना
टेक्निकल हेड राहुल झा के मुताबिक 24 करोड़ रुपये की लागत से तैयार इस किचन का एरिया 15 हजार वर्गमीटर है। किचन में रोटी पकाने के लिए दो मशीनें लगाई गई हैं। इसका मतलब है कि हर घंटे 1 लाख रोटी सेंकी जा सकेंगी। आटा गूथने की मशीनें भी इसमें जोड़ी जा रहीं हैं। इससे एक बार में 100 किलो आटा डालकर रोटी बनाई जा सकती हैं।

किचन में चार अलग-अलग ‘दाल कॉल्डेरॉन’ यानी दाल की कड़ाही बनाई गई है। यहां 1600 लीटर की दाल मशीन है। छोटी मशीनें 1400, 1200 और एक हजार लीटर क्षमता की हैं। चावल पकाने वाले स्टीम कुकर की क्षमता 100 किलो है। खाना बनाने के लिए बिजली और नेचुरल गैस दोनों का यूज किया जाएगा। यहां पर खाना मशीन और हाथ दोनों द्वारा पकाने की व्यवस्था की गई है।

8 जुलाई से बंटेगा मिड डे मील

अक्षयपात्र किचन के लोकार्पण के बाद 8 जुलाई से स्कूलों में खाना भेजा जाएगा। अक्षयपात्र फाउंडेशन के राष्ट्रीय अध्यक्ष भारत दास ने बताया कि सबसे पहले सेवापुरी ब्लॉक के 143 स्कूलों में यहां का खाना भेजा जाएगा। यहां पर 124 परिषदीय और 19 एडेड स्कूल हैं। मिड डे मिल के लिए यहां से 27,094 बच्चों का रजिस्ट्रेशन हुआ है। अक्षयपात्र किचन की वैन इन सभी स्कूलों में खाना लेकर जाएगी। अक्षयपात्र फाउंडेशन भारत में 21 राज्यों और 7 केंद्रशासित प्रदेशों में भोजन वितरण का काम कर रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *