अस्पताल में नवजात को बीसीजी का टीका लगने के बाद हुई मौत, ​परिजनों का फूटा गुस्सा, जमकर किया हंगामा

Gorakhpur Zone

(www.arya-tv.com) बस्‍ती के जिला महिला अस्पताल में 27 जनवरी को एक नवजात को बीसीजी (बेसिल कालमेट-ग्युरिन) का टीका लगने के बाद उसकी हालत बिगड़ गई। परिजन जब तक नवजात को चिकित्सक के पास ले जाते उसने दम तोड़ दिया था। नवजात की मौत के बाद परिजनों का गुस्सा फूट गया और हंगामा करने लगे। पुलिस पहुंची और मामले को किसी तरह से शांत कराया।

रुधौली थाना क्षेत्र के उमरा खास गांव निवासी निशा पत्नी रवि को 26 जनवरी की रात में परिजन प्रसव पीड़ा होने पर भर्ती कराए थे। निशा ने रात में ही एक स्वस्थ बच्चे को जन्म दिया। 27 जनवरी को नियमानुसार निशा को अस्पताल से डिस्चार्ज होना था। उसके पहले नवजात को प्रारंभिक टीका बीसीजी लगना था। परिजन नियमित टीकाकरण केंद्र पर पहुंचकर नवजात को बीसीजी का टीका लगवा दिए।

उसी दौरान नवजात जोर-जोर से चिल्लाने लगा। परिजन नवजात को लेकर वार्ड में पहुंचे, लेकिन नवजात चिल्लाना बंद नहीं किया। हालत बिगड़ने लगी, परिजन तत्काल बाल रोग विशेषज्ञ के पास ले गए, लेकिन नवजात उससे पहले ही दम तोड़ चुका था। उसके बाद परिजनों का आक्रोशित हो गए और अस्पताल परिसर में ही हो-हल्ला करने लगे और टीकाकरण के लिए पैसा मांगने का आरोप लगाते हुए हंगामा किया।

यह देख टीकाकरण केंद्र पर ताला लगाकर कर्मचारी गायब हो गए। परिसर में भीड़ जमा हो गई थी। प्रसव पीड़िता दहाड़ेमार कर रो रही थी। पूरे दिन टीकाकरण नहीं हुआ। इससे टीकाकरण के लिए पहुंचे लोगों को समस्या हुई। परिजनों ने कहा कि टीका लगवाने के नाम पर पैसे की मांग की जा रही थी, न देने पर गलत तरीके से टीका लगाया गया। इससे नवजात की तबीयत बिगड़ गई और मृत्यु हो गई।

टीका लगने से पहले बच्चा स्वस्थ था। परिजनों ने जांच कर संबंधित कर्मचारी पर कार्रवाई की मांग किए हैं। वहीं घटना पर चौकी इंचार्ज गांधीनगर मनीष जायसवाल मय फोर्स पहुंच गए थे। परिजनों को समझाया। महिला थाने की भी महिला पुलिस पहुंची थी।

चौकी इंचार्ज ने बताया कि अभी कोई तहरीर प्राप्त नहीं हुई है। तहरीर मिलने पर नवजात के पोस्टमार्टम के लिए क्या प्रक्रिया होती है, उसको पूरा कराया जाएगा। हास्पिटल से अभी कोतवाली में मेमो भी नहीं पहुंचा है। उच्चाधिकारियों को इस मामले से अवगत कराया गया है। जिला प्रतिरक्षण अधिकारी डा. फखरेयार हुसैन ने बताया कि घटना की पूरी जानकारी लेकर शासन को इस मामले से अवगत कराया गया है।

फिलहाल वैक्सीन से नवजात की मौत नहीं हुई होगी, कोई अन्य कारण होगा, पोस्टमार्टम के लिए कहा गया है, रिपोर्ट के बाद कुछ कहा जाएगा। जिस वायल से नवजात को टीका लगा था, उसी वायल से नौ नवजात को टीका लगा है, उनमें से किसी नवजात को कोई समस्या नहीं हुई है। बताया कि एक लाख बच्चे में किसी एक में रिएक्शन होने की संभावना होती है। फिलहाल मामले की जांच कराई जाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *