शिशु मृत्यु दर में कमी लाने के लिए 15 से 21 नवम्बर तक राष्ट्रीय नवजात शिशु सप्ताह

Health /Sanitation National

 माता एवं शिशु की स्वास्थ्य जागरूकता अभियान चल रहा है 

दंतेवाड़ा। (www.arya-tv.com) शिशु मृत्यु दर में कमी लाने और उनके स्वास्थ्य की देखभाल के प्रति जागरूकता के लिए जिला अस्पताल में 15 से 21 नवम्बर तक राष्ट्रीय नवजात शिशु सप्ताह मनाया जा रहा है। इस दौरान प्रसूताओं को यह सलाह दी जा रही है कि नवजात शिशुओं को छह माह तक केवल स्तनपान करवाया जाए। साथ ही नवजात के बीमारी की पहचान और उसके बेहतर देखभाल के बारे में भी लोगों को जागरूक किया जा रहा है।

शिशु रोग विशेषज्ञ डॉ राजेश ध्रुव ने बताया कि राष्ट्रीय नवजात शिशु सप्ताह के कार्यक्रम के अंतर्गत जन समुदाय को बताया जा रहा कि प्रसव चिकित्सालय में ही कराएं। प्रसव के बाद 48 घंटे तक माता एवं शिशु की उचित देखभाल के लिए चिकित्सालय में रुकें।

जन्म के एक घंटे के भीतर मां का गाढ़ा पीला दूध पिलाना जरूरी है और छह माह तक सिर्फ स्तनपान कराया जाए। जन्म के बाद नवजात का सम्पूर्ण टीकाकरण उसके सेहत के लिये बहुत जरूरी है। इसे नियमित रूप से पालन करना चाहिए। नवजात की नाभि सूखी एवं साफ रखें, संक्रमण से बचाएं और माता व शिशु की व्यक्तिगत स्वच्छता का ख्याल रखें।

कम वजन और समय से पहले जन्में बच्चों पर विशेष ध्यान की जरूरत होती है। शिशु का तापमान स्थिर रखने के लिए कंगारू मदर केयर की विधि उपयुक्त होती है। शिशु को स्तनपान कराते रहें क्योंकि कुपोषण और संक्रमण से बचाव के लिए केवल माँ का दूध सर्वोत्तम होता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *