आतंक पर शाह की पुलिस को नसीहत:बोले- कश्मीर में पाकिस्तानी संगठन ही आतंकवाद की वजह

# ## National

(www.arya-tv.com) जम्मू-कश्मीर में आतंकी हमले को लेकर अमित शाह ने रिव्यू मीटिंग में अधिकारियों को सख्त निर्देश दिए हैं। शाह ने कहा कि कश्मीर में कोई नया आतंकी संगठन नहीं पनपा है, इसलिए इनके नाम लेने से परहेज करें। मीटिंग में शाह ने लगातार हो रहे कश्मीरी पंडितों की हत्या पर चिंता जताई।

हिंदुस्तान टाइम्स की रिपोर्ट के मुताबिक शाह ने जम्मू पुलिस से कहा कि पाकिस्तान के रावलपिंडी से आतंकी साजिश की जा रही हैं। ऐसे में नए संगठनों के नाम लेने से स्थानीय लोगों में भय बढ़ेगा। उन्होंने कहा कि आतंकी वारदातों के बाद पाक परस्त संगठनों का नाम लें, ताकि दुनिया को पता चले कि पाकिस्तान किस तरह कश्मीर में आतंक फैला रहा है।

कश्मीर में 2 आतंकी ग्रुप एक्टिव
इंटेलिजेंस इनपुट के मुताबिक जम्मू-कश्मीर में ISI की शह पर दो आतंकी संगठन सक्रिय हैं। इसमें लश्कर-ए-तैय्यबा और जैश-ए-मोहम्मद शामिल हैं। दोनों ग्रुप कई छोटे-छोटे संगठन बनाकर आतंकी वारदातों को अंजाम देते हैं, जिसमें तहरीक-ए-इस्लामी और रेजिडेंट फ्रंट मुख्य रूप से शामिल हैं।

कश्मीर में बढ़ रही है लोकल टेररिस्ट‌्स की संख्या
जम्मू-कश्मीर में पिछले कुछ सालों से लोकल टेररिस्ट्स की संख्या बढ़ रही है। आठ मई तक के अपडेट आंकड़ों के अनुसार साल 2018 में 187, 2019 में 121, 2020 में 181, 2021 में 142 और 2022 में 28 स्थानीय युवा आतंकी संगठनों का हिस्सा बने। इधर, कश्मीर में पिछले 4 महीने में 460 से ज्यादा आतंकी मुठभेड़ में मारे गए हैं।

पाकिस्तान को भारत ने लगाई फटकार
जम्मू-कश्मीर परिसीमन पर प्रस्ताव पास करने के बाद भारत ने पाकिस्तान को कड़ी फटकार लगाई है। सरकार ने इसे हास्यास्पद भी बताया है। साथ ही कहा है कि पाकिस्तान के पास हमारे आंतरिक मामले में दखल देने का कोई अधिकार नहीं है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *