विदा ई-स्कूटर आज 1 बजे लॉन्च होगी:हीरो मोटोकॉर्प का नया ऑल-इलेक्ट्रिक ब्रांड है विदा

# ## Business

(www.arya-tv.com) हीरो मोटोकॉर्प आज दोपहर 1 बजे अपने नए ईवी ब्रांड विदा के तहत अपना पहला इलेक्ट्रिक स्कूटर लॉन्च करेगा। विदा हीरो मोटोकॉर्प के तहत एक नया लोगो और पहचान के साथ एक नया ऑल-इलेक्ट्रिक ब्रांड है। ये स्कूटर स्वैपेबल बैटरी टेक्नोलॉजी और मल्टीपल चार्जिंग ऑप्शन्स के साथ आएगा। स्वैपेबल बैटरी पैक के लिए हीरो ने ताइवान की कंपनी गोगोरो के साथ स्ट्रैटजिक पार्टनरशिप की है, जो स्वैपेबल बैटरी टेक्नोलॉजी में विशेषज्ञता रखती है।

एथर एनर्जी के साथ पार्टनरशिप
हीरो मोटोकॉर्प की एथर एनर्जी के साथ भी पार्टनरशिप है जो उसके चार्जिंग नेटवर्क और इक्विपमेंट ऑफर कर सकती है। हीरो ने अपने एक हालिया ट्वीट में कहा था, ‘अब आप अपने इलेक्ट्रिक स्कूटर को घर पर, पार्किंग लॉट पर और हमारे पब्लिक चार्जिंग स्टेशनों पर चार्ज कर सकते हैं।’ फर्स्ट फेज में बेंगलुरु, दिल्ली और देश के 7 अन्य शहरों में चार्जिंग स्टेशन मिलेंगे। इन चार्जिंग स्टेशन पर DC और AC दोनों ही तरह के चार्जिंग ऑप्शन की सुविधा मिलेगी।

दो रेंज में आएंगे विदा स्कूटर
विदा V1 स्कूटर को दो रेंज और परफॉर्मेंस वेरिएंट विदा V1 प्ल्स और Vida V1 प्रो में पेश किया जाएगा। इनमें से एक किफायती और एक प्रीमियम वैरिएंट होगा। इसी हिसाब से इनकी कीमत भी होगी। दोनों स्कूटर पर सरकार की FAME-II सब्सिडी मिलेगी। इस योजना के तहत ग्राहकों को EV की खरीद के समय ही बड़ा डिस्काउंट दिया जाता है। हीरो मोटोकॉर्प अपने इस स्कूटर की लॉन्चिंग को दो बार टाल चुका है अब त्योहारी सीजन में इसे लॉन्च किया जा रहा है।

स्कूटर डेवलपमेंट में 25,000 घंटे लगे
स्पैनिश में विदा का मतलब लाइफ होता है। इस मॉडल को कंपनी के जयपुर बेस्ड R&D सेंटर पर डिजाइन और डेवलप किया गया। हीरो को अपने इस इलेक्ट्रिक स्कूटर को डेवलप करने में 25,000 घंटे लगे हैं। ये ई-स्कूटर ओला S1, टीवीएस iQube, एथर 450X, हीरो इलेक्ट्रिक फोटोन और बजाज चेतक जैसे ई-स्कूटर्स के सामने बड़ी चुनौती पेश करेगा। इनमें, ज्यादातर गाड़ियों की टॉप 60 से 90 किमी के बीच है। ऐसे में देखना इंटरेस्टिंग होगा कि विदा की टॉप-स्पीड कितनी होगी।

2025 तक 50 लाख पर होगा ई-टू व्हीलर मार्केट
मैकिन्से के अनुसार, भारतीय ई-टू व्हीलर मार्केट 2025 तक 45-50 लाख तक पहुंच जाएगा, जो कुल बाजार का 25%-30% और 2030 तक नौ मिलियन होगा। पिछले कुछ महीनों में दोपहिया वाहनों में भारी उछाल देखा गया है। TVS, एम्पियर इलेक्ट्रिक, एथर एनर्जी, हीरो इलेक्ट्रिक जैसी कंपनियों ने हाल ही में 1000 करोड़, 700 करोड़, 636 करोड़ और 700 करोड़ के निवेश का प्लान किया हैं। इस अवसर का लाभ उठाने के लिए कई स्टार्टअप इस क्षेत्र में उभरे हैं।

25000 से बढ़कर 143000 यूनिट पर पहुंची बिक्री
पिछले पांच वर्षों में ई-टू-व्हीलर की बिक्री 25000 यूनिट से बढ़कर 143000 यूनिट तक पहुंच गई है। इस साल यह संख्या आसानी से 2 लाख यूनिट को पार कर जाएगी। FY22 की पहली तिमाही में पिछले वर्ष की समान अवधि में 1,950 यूनिट के मुकाबले लगभग 10,072 इलेक्ट्रिक दोपहिया वाहनों की बिक्री हुई थी। हीरो इलेक्ट्रिक का दावा है कि वह हर महीने करीब 4500 यूनिट्स बेच रही है।

ऑटो दिग्गजों का इलेक्ट्रिक टू-व्हीलर स्पेस में निवेश
हीरो मोटोकॉर्प और बजाज ऑटो जैसे दिग्गजों ने भी इलेक्ट्रिक टू-व्हीलर स्पेस में निवेश किया है। वहीं कैब सर्विस देने वाली कंपनी ओला ने पिछले साल तमिलनाडु में अपनी पहली मेगा इलेक्ट्रिक स्कूटर फैक्ट्री स्थापित करने के लिए 2,400 करोड़ रुपए का निवेश किया। ओला का दावा है कि वह अपनी फैक्ट्री में सालाना 10 मिलियन वाहनों की कैपेसिटी बनाएगी। ओला अभी अपने S1 और S1 प्रो नाम से दो स्कूटर मार्केट में बेचता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *