कोरोना जांच घोटाले में हरिद्वार की पैथोलॉजी लैब पर मुकदमा, ईडी की रिपोर्ट पर एक्शन

# ## National

(www.arya-tv.com) हरिद्वार‌ में चर्चित पैथोलॉजी लैब पर मुकदमा दर्ज हुआ है. ईडी की रिपोर्ट पर एसएसपी ने एक्शन लेने का निर्देश दिया था. मामला कुंभ मेला 2021 के दौरान कोरोना की आरटीपीसीआर और एंटीजन टेस्ट में फर्जीवाड़े का है. आरोप है कि 2021 में कोरोना महामारी के दौरान ज्वालापुर थाना क्षेत्र रानीपुर मोड़ स्थित नोवस पैथ ने फर्जी तरीके से एंटीजन-रैपिड कोविड टेस्ट करते हुए सरकारी राजस्व को नुकसान पहुंचाकर आर्थिक लाभ कमाया.

ईडी की रिपोर्ट पर लैब के खिलाफ मुकदमा

कोरोना की जांच आईसीएमआर के नियमों को धत्ता बताते हुए कई गई. मामला उजागर होने पर तत्समय मैक्स कॉरपोरेट सर्विस कुंभ मेला, लैबोरेट्री प्राइवेट लिमिटेड हिसार के पैथ लैब के खिलाफ कोतवाली नगर में मुकदमा दर्ज किया गया. अनैतिक रूप से धन कमाने का पता चलने पर प्रवर्तन निदेशालय ने संबंधित लैब पर छापे की भी कार्रवाई की. लैब पर प्रेंशन ऑफ मनी लांड्रिंग एक्ट 2002 के तहत जांच शुरू कर दी गई.

कोरोना जांच के नाम पर घोटाले का आरोप

पीएमएलए के तहत की गई जांच में पैथ लैब की अनियमितता का खुलासा हुआ. हरि‌द्वार कुंभ मेला के दौरान पैथ लैब को करीब ढाई करोड़ का गलत तरीके से भुगतान किया गया. आईसीएमआर डेटा की जांच करने पर नोवस पैथ लैब की एंट्री नकली प्रतीत हुई. संचालक पैथ लैब और पार्टनर संध्या शर्मा पर कोरोना जांच में फर्जीवाड़े का शक जताया गया. फर्जी टैस्ट रिपोर्ट और बिल के जरिए सरकार को भारी राजस्व हानि पहुंचाई गई. पैथ लैब संचालकों ने षडयन्त्र कर अनुचित लाभ अर्जित किया गया. नोवस पैथ लैब संचालक और पार्टनर संध्या शर्मा के खिलाफ एसएसआई राजेश बिष्ट ने थाना ज्वालापुर में धोखाधड़ी समेत विभिन्न धाराओं में मुकदमा दर्ज कराया.

जांच का जिम्मा उपनिरीक्षक विकास रावत को सौंपा गया है. एसपी सिटी स्वतंत्र कुमार का कहना है कि कुंभ मेला के दौरान कोरोना टेस्टिंग में अनियमितता मामले की ईडी जांच कर रही थी. जांच के दौरान काफी अनियमितता पाई गई है. मामले में नोवस पैथ लैब के ऊपर मुकदमा दर्ज किया गया है. कोरोना जांच के नाम पर फर्जीवाड़े में और लोग भी शामिल हो सकते हैं. जांच में खुलासा होने पर रिपोर्ट दर्ज की जाएगी.