कानपुर कांड: पोस्टमॉर्टम के दौरान गोलियों के निशान देखकर दंग रह गए डॉक्टर

UP

(www.arya-tv.com) कानपुर कांड में शहीद पुलिसकर्मियों की पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट के मुताबिक सिपाही सुल्तान को दो गोलियां मारी गईं। अन्य पुलिसकर्मियों को आठ से दस गोलियां मारी गईं, जिससे उनकी घटनास्थल पर ही मौत हो गई।

पोस्टमॉर्टम के दौरान डॉक्टर शरीर पर गोलियों के निशान देखकर दंग रह गए। पुलिसकर्मियों के सिर, चेहरे, हाथ, पैर, सीने और पेट में गोलियां लगीं। सीओ बिल्हौर देवेंद्र मिश्र के चेहरे पर एक गोली लगने से वाइटल ऑर्गन बाहर आ गया और उन्होंने तुरंत दम तोड़ दिया। डॉक्टरों के अनुसार, यही हाल अन्य पुलिसकर्मियों का भी हुआ होगा। ज्यादातर गोलियां शरीर के पार हो गईं। तीन पुलिसकर्मियों के शरीर में गोलियों के टुकड़े जरूर मिले जो हड्डियों से टकराने से कई टुकड़ों में बंट गए। गोलियां रायफल की बताई जा रही हैं। पोस्टमॉर्टम के दौरान मिले गोलियों के टुकड़ों को परीक्षण के लिए भेजा जाएगा।

चार डिप्टी सीएमओ और आठ डॉक्टरों ने किया पोस्टमॉर्टम 
सीएमओ डॉ अशोक कुमार शुक्ला के निर्देश पर चार डिप्टी सीएमओ, आठ डॉक्टरों व तीन वीडियोग्राफर की टीम शहीद पुलिसकर्मियों के पोस्टमॉर्टम में रही। इनमें डिप्टी सीएमओ डॉ एपी मिश्र, डॉ एसके सिंह, डॉ अवधेश गुप्ता, डॉ अरविंद यादव के निर्देशन में डॉ विपुल चतुर्वेदी, डॉ बीसी पाल, डॉ परवीन सक्सेना, डॉ राहुल कुमार वर्मा, डॉ जीएन द्विवेदी, डॉ शैलेंद्र कुमार और डॉ धीरेंद्र कुमार ने पोस्टमॉर्टम किया। इस दौरान वीडियोग्राफी भी की गई।