GST काउंसिल की 47वीं बैठक आज से:ऑनलाइन गेमिंग और कैसीनो पर 28% GST लगाने पर हो सकता है विचार

# ## Business

(www.arya-tv.com) आज यानी 28 जून से चंडीगढ़ में GST काउंसिल की 47वीं बैठक होना वाली है। काउंसिल छह महीने के अंतराल के बाद बैठक कर रही है। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक 2 दिन चलने वाली इस बैठक में ऑनलाइन गेमिंग, कैसीनो और घोड़ों की रेस पर 28% GST लगाने पर विचार किया जा सकता है। राज्य के वित्त मंत्रियों के पैनल की तरफ से ऐसा एक प्रस्ताव पेश किया गया था। इसके अलावा GST काउंसिल की मीटिंग से पहले पीएम के आर्थिक सलाहकार परिषद के चेयरमैन विवेक देबरॉय ने पेट्रोल-डीजल को GST में शामिल करने की संभावना जताई है।

आर्टिफिशियल बॉडी पार्ट्स और आर्थोपेडिक ट्रांसप्लांट पर कम हो सकता है GST
GST काउंसिल ने कृत्रिम अंगों और आर्थोपेडिक ट्रांसप्लांट पर एक समान 5% GST दर लागू करने की सिफारिश की है। इसके साथ ही काउंसिल ने रोपवे यात्रा पर GST दर को 18% से घटाकर 5% करने की भी सिफारिश की है।

वहीं ओस्टोमी उपकरणों पर GST दर को 12% से घटाकर 5% करने का प्रस्ताव है। इसके अलावा इलेक्ट्रिक वाहनों को लेकर GST दरों पर एक स्पष्टीकरण जारी किया जाएगा, जिसके मुताबिक ईवी, चाहे बैटरी से लैस हों या नहीं, उन पर 5% की दर से टैक्स लगेगा।

पेट्रोल-डीजल को भी GST में लाने की भी चर्चा
GST काउंसिल की मीटिंग से पहले पीएम के आर्थिक सलाहकार परिषद के चेयरमैन विवेक देबरॉय ने पेट्रोल- डीजल को GST में शामिल करने की संभावना जताई है। देबरॉय ने इस बात की वकालत की है कि पेट्रोलियम प्रोडक्ट्स के GST में शामिल होने के बाद बढ़ती महंगाई पर लगाम लगाना संभव होगा।

हालांकि केंद्र और राज्य सरकारें दोनों ही खजाना खाली होने के डर से पेट्रोल-डीजल और शराब को GST में शामिल करने से डरती हैं। आइए समझतें हैं अगर पेट्रोल GST के दायरे में आता है तो सरकार को प्रति लीटर कितना कम टैक्स मिलेगा।

अभी GST में चार टैक्स स्लैब
GST में 5, 12, 18 और 28% के चार स्लैब हैं। हालांकि, गोल्ड और गोल्ड ज्वेलरी पर 3% टैक्स लगता है। कुछ अनब्रांडेड और अनपैक्ड प्रोडक्ट ऐसे भी है जिनपर GST नहीं लगता।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *