पूर्व प्रधानमंत्री की बेटी स्वास्थ्य मंत्री पर भड़कीं, बोलीं-मेरे पेरेंट्स चिड़ियाघर के जानवर नहीं

Health /Sanitation National

(www.arya-tv.com) पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह की बेटी दमन सिंह ने पिता के इलाज के दौरान की तस्वीर मीडिया में आने पर कड़ी प्रतिक्रिया दी है। अपने एक बयान में उन्होंने कहा कि मेरे पेरेंट्स कठिन हालात का सामना करने की कोशिश कर रहे हैं। वे बुजुर्ग लोग हैं। चिड़ियाघर के जानवर नहीं हैं।

दरअसल, मनमोहन सिंह का दिल्ली के एम्स में इलाज चल रहा है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मांडविया शुक्रवार को उनकी हालचाल जानने के लिए अस्पताल पहुंचे थे। मांडविया ने इस मुलाकात की तस्वीरें सोशल मीडिया पर शेयर की। वहीं, न्यूज चैनलों पर कुछ वीडियो दिखाए गए, जिनमें मनमोहन सिंह बिस्तर पर लेटे हुए नजर आ रहे हैं और उनकी पत्नी गुरशरण कौर उनके पास खड़ी हैं।

मेरी मां ने फोटो खींचने से मना किया था
दमन सिंह ने कहा कि मेरे पिता का एम्स में डेंगू का इलाज चल रहा है। उनकी हालत स्थिर है, लेकिन उनकी रोग प्रतिरोधक क्षमता कम है। हमने संक्रमण के जोखिम के कारण आने वालों पर रोक लगाई है। स्वास्थ्य मंत्री का आना और अपनी चिंता जताना अच्छा लगा। हालांकि, मेरे पेरेंट्स उस समय फोटो खिंचवाने की स्थिति में नहीं थे। मेरी मां ने जोर देकर कहा कि फोटोग्राफर को कमरे से बाहर जाना चाहिए, लेकिन उन्हें पूरी तरह से नजरअंदाज कर दिया गया। इसे लेकर वह बहुत परेशान थीं।

डॉक्टर्स ने कहा- रोगियों की प्राइवेसी बनाए रखना नैतिकता
इस मामले पर डॉक्टर्स ने कहा कि रोगियों की प्राइवेसी बनाए रखना नैतिकता है, जिसे मेडिकल एजुकेशन के दौरान पढ़ाया जाता है। डॉक्टर्स और हॉस्पिटल्स का यह दायित्व है कि रोगी की गोपनियता की रक्षा हो। फोरम फॉर मेडिकल एथिक्स सोसाइटी (FMES) के सदस्य ने कहा कि अगर पूर्व प्रधानमंत्री की तस्वीर उनके परिवार की सहमति के बगैर ली गई है तो यह नैतिकता का उल्लंघन है।

लोगों की कड़ी प्रतिक्रिया के बाद मांडविया ने तस्वीरें डिलीट की
केंद्रीय मंत्री की ओर से शेयर की गई तस्वीरों पर लोगों ने कड़ी प्रतिक्रिया दी। यूजर्स ने ट्वीट करके कहा कि मीडिया की सुर्खियां पाने के लिए ऐसा किया गया, जो कि निंदनीय है। इस तरह के आक्रोश को देखते हुए मांडविया ने तस्वीरें डिलीट कर दीं। यह अभी तक साफ नहीं हो पाया है कि डॉक्टर्स और एम्स मैनेजमेंट ने फोटोग्राफर को अंदर कैसे जाने दिया। इससे भी चौंकाने वाली बात यह है कि एम्स के निदेशक गुलेरिया खुद वहां मौजूद थे।

इसी साल कोरोना संक्रमित हुए थे मनमोहन सिंह
मनमोहन सिंह फिलहाल राजस्थान से राज्यसभा सदस्य हैं। वो 2004 से 2014 तक देश के प्रधानमंत्री रहे। मनमोहन सिंह इस साल 19 अप्रैल को कोरोना वायरस से भी संक्रमित हो गए थे। उन्हें एम्स में भर्ती कराया गया था। 10 दिन के बाद उन्हें अस्पताल से छुट्‌टी मिली थी। मनमोहन सिंह को शुगर की भी बीमारी है। उनकी दो बाईपास सर्जरी भी हो चुकी है। पहली सर्जरी 1990 में ब्रिटेन में हुई थी, जबकि 2009 में एम्स में उनकी दूसरी बाईपास सर्जरी की गई थी। पिछले साल एक दवा के रिएक्शन और बुखार होने के बाद भी मनमोहन सिंह को एम्स में भर्ती कराया गया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *